Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मुख्यमन्त्री के प्रवास से ही आदि हिमानी चामुण्डा मन्दिर की समस्याओं का होगा समाधान

                            सोलर लाईटें लग जाने से अव भारी संख्या में श्रद्धालु यहां जा रहे माथा टेकने 

पालमपुर,ब्यूरो रिपोर्ट 

शिखर पहाड़ी पर स्थित सिद्ध शक्ति पीठ मां आदि हिमानी चामुण्डा के दस किलोमीटर लम्बे पैदल रास्ते पर वी एम जे एस योजना के अन्तर्गत स्थानीय पंचायत के सहयोग से सोलर लाईटें लगाने वाली समाजसेवा में समर्पित इन्साफ संस्था के अध्यक्ष एवं पालमपुर के पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने मुख्यमन्त्री श्री सुखविन्दर सिंह सुक्खू जी का ध्यान इस मन्दिर की ओर दिलाते हुए कहा है कि सोलर लाईटें लग जाने से अव भारी संख्या में श्रद्धालु यहां माथा टेकने जा रहे । परिणामस्वरूप नजारा वैष्णो देवी की तरह देखने को मिल रहा है।

लेकिन यहाँ यात्रा करते वक्त अगर मौसम खराब हो जाए तो इस दस किलोमीटर लम्बे रास्ते के बीच में एक भी वर्षाश्रालय नहीं जहां श्रद्धालु अपना सिर ढकने के लिए रुक सके । ऐसी ही पेयजल के अतिरिक्त उबड खाबड़  रास्ते , वर्षों से निर्माणाधीन मन्दिर के भवन के कार्य जैसी अनेकों असुविधाओं के अभाव से यात्रियों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है । पूर्व विधायक ने मुख्यमन्त्री से आग्रह किया है कि जो आपने कांगड़ा को पर्यटन की राजधानी बनाने की घोषणा की है । इसकी शुरुआत इस मन्दिर में माथा टेकने के उपरान्त  प्रस्तावित आदि हिमानी चामुण्डा रज्जू मार्ग के निर्माण व बन्द पडी मन्दिर तक हैली टैक्सी सेवा को पुनः शुरू करने का संकल्प लेकर करें ।

पूर्व विधायक ने मुख्यमन्त्री महोदय का ध्यान इस ओर भी आकर्षित करते हुए कहा कि बतौर विधायक उन्होनें समिट एविएशन कम्पनी से मन्दिर के निकट हैली पेड बनवा दिया है इसके इलावा जो रज्जू मार्ग का सर्वे करवाया था बाद में उस चिन्हित स्थल को बदल कर उसका शिलान्यास चामुण्डा मन्दिर लंगर भवन के साथ करवा दिया था नतीजतन टैण्डर प्रक्रिया में जो कम्पनी आगे आई थी उसने लम्बी माथापची के उपरान्त नाट फिजीबल रिमार्क के साथ नींव स्थल से रोपवे को अनुचित ठहराते हुए हाथ पिछे हटा लिए हैं। ऐसे में पूर्व विधायक ने दावे ओर विश्वास के  साथ कहा है अगर सरकार अर्थात मुख्यमन्त्री जी जरा सी भी रुचि लें तो यह मन्दिर वैष्णो माता मन्दिर की तरह जिला कांगड़ा का सबसे बडा धार्मिक पर्यटन उधोग बन सकता है।




 

Post a Comment

0 Comments

 कई भागों में 21 जुलाई तक मानसून की बारिश जारी