Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आत्मनिर्भर भारत विजन को साकार करने में युवाओं की होगी महत्वपूर्ण भूमिका : अनुराग ठाकुर


  • शिमला 17 जुलाई,प्रवीण शर्मा
    केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने हिमाचल व दिल्ली सहित देशभर के विभिन्न स्कूलों के छात्रों व अध्यापकों के साथ आत्मनिर्भर भारत विषय पर आयोजित वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग कार्यक्रम में देश को आत्मनिर्भर बनाने में युवाओं की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए उनसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस विजन को साकार करने में अपना योगदान सुनिश्चित करने की अपील की। अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट के इस दौर में भारत की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज को देशवासियों को समर्पित किया था।


 

 

प्रधानमंत्री का विजन इस राहत पैकेज से लोगों को कामकाज करने की सुविधा उपलब्ध कराने और अगले कुछ वर्षाें में भारत अपनी जरूरत की अधिकतर चीजों के लिए खुद पर निर्भर करने का है। 21वीं सदी युवाओं की है और भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी युवा शक्ति है। हमारे देश के युवाओं के पास अपने इनोवेशन के दम पर भारत को विश्व की पहली तीन अर्थव्यवस्थाओं में ले जाकर खड़ा करने का सुनहरा अवसर है।

भारत सरकार द्वारा बैन किए गए 59 एप्स से ख़ाली हुए बाज़ार में भारतीय युवा अपने इनोवेशन और टेक्नोलॉजी के ज़रिए इस रिक्त स्थान को भर कर इस अवसर का लाभ उठा सकते हैं। भारत की संस्कृति, भारत के संस्कार, उस आत्मनिर्भरता की बात करते हैं, जिसकी आत्मा वसुधैव कुटुंबकम है और देश को आत्मनिर्भर बनाने में हमारे युवाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहने वाला है। अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने हमें आपदा को अवसर में बदलने का अचूक मंत्र दिया है।

हमें आत्मनिर्भर बनने के लिए अपने स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देते हुए स्वदेशी सामानों को ख़रीदने पर ज़ोर देना होगा, ताकि हम अपने देश के अंदर रोज़गार बढ़ाने और विदेशी निर्यात को बढ़ाने में अपना सहयोग दे सकें। एक तरफ़ भारतीय सेना सीमा पर अपने पराक्रम से देश पर बुरी नज़र डालने वालों को मुंह तोड़ जवाब दे रही है, तो दूसरी तरफ़ कुछ लोग देश के अंदर रह कर सेना के शौर्य व राष्ट्रहित पर सवालिया निशान लगा रहे हैं, जिस से लोगों से सावधान रहने की ज़रूरत है। प्रधानमंत्री ने देश को आत्मनिर्भर बनाने के किए पांच स्तंभाें इकॉनमी, इंफ़्रास्ट्रक्चर, सिस्टम, डेमोग्राफ़ी व डिमांड पर ज़ोर दिया है। इन पांच स्तंभों पर आत्मनिर्भर भारत की गौरवशाली ढांचा खड़ा होगा, जिसमें देश की युवाशक्ति की अहम भूमिका रहेगी।

Post a Comment

0 Comments

अब शिंकुला दर्रा होकर पदुम चलेगी निगम की बस