Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

ट्विटर पर छिड़ी संगठन मंत्री पवन राणा और लोक सम्पर्क अधिकारी अजय बन्याल के बीच जुबानी जंग बनी चर्चा का विषय

◆कुते का फोटो लगाकर कहा तुझे है इस कुते की तरह गलतफहमी

◆कहा तुझे और तेरे आकाओं को जानता हूं कितने पानी में हैं

◆इस घटना से मचा बबाल

शिमला,प्रवीण शर्मा
हिमाचल प्रदेश भाजपा के संगठन मंत्री पवन राणा और लोक सम्पर्क अधिकारी काजा अजय बन्याल में ट्वीटर पर जुबानी जंग छिड़ गई है। इस दौरान अजय बन्याल के कुछ ट्वीट्स पर पवन राणा ने धमकी भरे लहजे में जवाब दिए हैं और उन्हें एक कुते की फ़ोटो भेज कर कहा कि तुझे इस कुते की तरह गलतफहमी है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मुझे भी जबाब देना आता है तथा तुझे और तेरे आकाओं को अच्छी तरह से जानता हूं।
असल में लोक सम्पर्क अधिकारी अजय बन्याल ने पवन राणा के एक ट्वीट पर रीट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, “लोग कुर्सी का फायदा उठाकर कुचलने में महानता समझते हैं, लेकिन उन्हें वक्त ही कुचल देता है। इसके जवाब में पवन राणा ने एक कुत्ते और शेर की फोटो शेयर करते हुए लिखा, ‘तेरे को भी इस कुत्ते की तरह गलतफहमी है।अगर आप भी इन ट्वीट पर गौर करें तो ये अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं होगा कि उपचुनाव में हार के चलते अधिकारी ने तंज कसा जिसका जबाव देश की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन मंत्री ने इस धमकी भरे लहजे में दिया है।
बात यहीं नहीं थमी इसी तरह एक और ट्वीट में पवन राणा ने लिखा कि ‘मैं कुछ बोलता नहीं, तो इसका मतलब यह नहीं है कि कुछ जानता नहीं हूं, तेरी सारी करतूतें पता है.” इसी तरह पवन राणा ने लिखा स्पीति में रहकर नौकरी कर जो सिफारिश में मिली है।  शिमला में बैठकर डिपार्टमेंट मत चला। इसी तरह कई ट्वीट किए और अजय बन्याल को जवाब दिया।
बता दें कि अजय बन्याल हिमाचल प्रदेश के स्पीति के काजा में एपीआरओ के पद पर तैनात हैं। वह इलाके से जुड़ी अपडेट सांझा करते रहते हैं। साथ ही सरकार की नीतियों को भी मीडिया के जरिये सांझा करते रहते हैं। ट्वीटर के जरिये भी लगातार हिमाचल और राजनीति से जुड़े अपडेट्स देते रहते हैं। ऐसे ही उन्होंने ट्वीटर पर संगठन मंत्री पवन राणा के ट्वीट पर रीट्वीट कर कमेंट कर दिया। जिसका बबाल आप साफ देख सकते हैं। अब देखना ये होगा भाजपा संगठन मंत्री के साथ ट्वीटर पर इस तरह की बात करने पर अधिकारी को क्या फल मिलता है।

Post a Comment

0 Comments

काले कपड़े पहन फीस वृद्धि के खिलाफ अभाविप का अनोखा प्रदर्शन