Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जयपुर में हिमाचली सेब हाथों हाथ बीका ,150 रुपये किलो बिका

                                                                 जयपुर में चमका हिमाचल का सेब

शिमला,रिपोर्ट नीरज डोगरा 

जयपुर में हिमाचली सेब हाथों हाथ बिक रहा है। हिमाचल की लोकल मंडियों में जहां सेब के औसत रेट 100 रुपये से भी कम हो गए हैं। जयपुर में 150 रुपये किलो तक सेब बिक रहा है। बड़ी संख्या में बागवान सेब जयपुर भेज रहे हैं।


 
अकेले शिमला से ही रोजाना 8 से 10 ट्राले सेब लेकर जयपुर रवाना हो रहे हैं। गुजरात और मध्य प्रदेश में भारी मांग के चलते जयपुर में हिमाचल का सेब महंगा बिक रहा है। कोटखाई की गरावग पंचायत के जौणी निवासी बागवान अशोक काल्टा ने बताया कि उन्होंने ट्रांसपोर्टर के जरिये 75 पेटी सेब जयपुर भेजा था। 150 रुपये किलो के हिसाब से सेब बिका है।इस साल फसल कम है और सेब का साइज भी नहीं बन रहा, फिर भी अच्छे रेट मिले हैं। लोकल मंडी में 40 से 45 रुपये किराया लग रहा है जबकि 75 रुपये किराये में पेटी जयपुर पहुंच रही है। झूड़ामल ट्रेडर्स बी-27, टर्मिनल मार्केट मुहाना, सांगानेर के संचालक सनी चेलानी ने बताया कि जयपुर में हिमाचली सेब की जबरदस्त डिमांड है। बढि़या क्वालिटी के लार्ज मीडियम स्मॉल सेब को 130 से 150 रुपये किलो रेट मिल रहे हैं। छोटा सेब भी 70 से 80 रुपये किलो बिक रहा है। जयपुर से पूरे राजस्थान, मध्यप्रदेश और गुजरात तक सेब की सप्लाई हो रही है।

गुरुवार को पराला मंडी में कोटखाई के प्रगतिशील बागवान प्रेम चौहान का एप्स किस्म का सेब 245 रुपये किलो के रिकार्ड रेट पर बिका। बेहतरीन क्वालिटी के चलते 70 पेटी सेब सूरत, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के खरीदारों ने सेब की खरीद की। प्रेम चौहान ने रॉयल सेब के म्यूटेशन से एप्स किस्म तैयार की है। इस किस्म के पौधे की ऊंचाई 8 फुट तक रहती है और तीन फीट की दूरी पर पौधा लगाया जा सकता है। प्रेम चौहान ने 15 बीघा के बागीचे में 15 हजार पौधे लगाए हैं। उम्दा क्वालिटी के चलते एप्स किस्म को विभिन्न पुरस्कार भी मिल चुके हैं।





Post a Comment

0 Comments

सीएम सुक्खू ने महिला सम्मान निधि योजना शुरू की