Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

गर्भवती महिलाओं को महिला रोग विशेषज्ञ से उपचार करवाने के लिए 172 किलोमीटर की दौड़ लगानी पड़ रही है

                        गर्भवती महिलाओं को अल्ट्रासाउंड के लिए लगानी पड़ रही 172 किमी की दौड़

चम्बा,रिपोर्ट राकेश कुमार 

जनजातीय क्षेत्र पांगी की 19 पंचायतों की गर्भवती महिलाओं को महिला रोग विशेषज्ञ से उपचार करवाने के लिए 172 किलोमीटर की दौड़ लगानी पड़ रही है। नागरिक अस्पताल पांगी में महिला रोग विशेषज्ञ नहीं है। अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए भी गर्भवती महिलाओं सहित अन्य मरीजों को जिला मुख्यालय चंबा या कुल्लू जाना पड़ रहा है। इससे नजदीक कहीं भी अल्ट्रासाउंड की सुविधा नहीं है।

अस्पताल में लाखों की मशीन तो है, लेकिन रेडियोलॉजिस्ट नहीं है। ऐसे में अल्ट्रासाउंड के लिए जनजातीय क्षेत्र पांगी की महिलाओं को चंबा जाना पड़ रहा है। उधर, सरकार गर्भवती महिलाओं के लिए प्रसव तक अल्ट्रासाउंड सहित अन्य सारा इलाज मुफ्त देने का प्रावधान कर रही है, लेकिन पांगी घाटी की महिलाओं को सरकार की इस सुविधा का लाभ नहीं मिल रहा है।मुफ्त अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए पहले गर्भवती महिलाओं को टैक्सी से चंबा पहुंचने के लिए 1000 रुपये किराया देना पड़ता है। उसके बाद मेडिकल कॉलेज चंबा में अल्ट्रासाउंड के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है। अल्ट्रासाउंड के लिए मरीजों को पहले तारीख दी जाती है। ऐसे में कई बार गर्भवती महिलाओं को चंबा में होटल में कमरा लेकर रुकना पड़ता है। अभी तक इस समस्या की ओर किसी भी सरकार ने ध्यान नहीं दिया है।

उधर, खंड चिकित्सा अधिकारी किलाड़ डॉ. सुभाष चौहान ने बताया कि मासिक समीक्षा बैठक में वह हर बार अस्पताल में चल रही विशेषज्ञों की कमी के बारे में जिला अधिकारी को अवगत करवा देते हैं। जिला अधिकारी की तरफ से सरकार को इस बारे अवगत करवाया जा चुका है।





Post a Comment

0 Comments

बिलासपुर में हादसा, खाई में गिरी कार