Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मंडी-पंडोह हाईवे की मरम्मत के लिए हाईवे को बंद करने के समय में किया बदलाव

                                           अब इसे 4:00 बजे से लेकर 5:30 तक बंद रखा जाएगा

मंडी,रिपोर्ट संगीता मंडयाल 

मरम्मत कार्य के चलते मंडी से पंडोह तक नेशनल हाईवे को बंद करने के समय में आंशिक बदलाव किया गया है।  शाम के समय 3:30 से लेकर 5:00 बजे तक हाईवे को डेढ़ घंटे तक बंद रखा जाता था। लेकिन अब इसे 4:00 बजे से लेकर 5:30 तक बंद रखा जाएगा। जबकि सुबह के समय में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह समय पहले की तरह 11:00 से 1:00 बजे तक ही रहेगा। 

एएसपी मंडी सागर चंद्र ने बताया कि यह सिर्फ अस्थायी परिवर्तन किया गया है। क्योंकि कुछ स्कूलों व कालेजों के विद्यार्थियों, अध्यापकों और अभिभावकों ने समय सारणी में बदलाव करने का निवेदन किया है। इसी को ध्यान में रखते हुए यह अस्थायी परिवर्तन किया गया है। यदि इस समय सारणी से किसी और को कोई दिक्कत नहीं हुई तो फिर इसे स्थायी तौर पर लागू कर दिया जाएगा। बता दें, मंडी से पंडोह तक नेशनल हाईवे की भारी बारिश के कारण काफी क्षति हुई है। हाईवे अभी भी एकतरफा ही चल रहा है। ऐसे में हाईवे दोनों तरफ से यातायात के लिए बहाल करने के लिए इसे दिन में दो बार बंद रखकर  मरम्मत कार्य किया जा रहा है।उधर, पंडोह से मंडी के बीच नेशनल हाईवे 14 अगस्त के आई बाढ़ से पंडोह डैम के ऊपर कैंची मोड़ के पास पूरी तरह टूट चुका है। इसे ठीक होने में अभी करीब दो महीने का वक्त लग सकता है। चूंकि पंडोह डैम से लेकर कैंची मोड़ तक एनएच को 4.5 किलोमीटर के लिंक रोड के माध्यम से जोड़ा गया है। यह संपर्क मार्ग तंग तथा कच्चा है। इसे लोक निर्माण विभाग की ओर से  आपातकालीन स्थिति में ट्रैफिक चलने लायक तैयार किया गया है। नेशनल हाईवे के ट्रैफिक को बारी-बारी से एकतरफा चलाया जा रहा है।  

इस संपर्क मार्ग पर वोल्वो बसों को भी चलाया जा रहा है,  लेकिन रोड की स्थिति ठीक नहीं होने से बसों व भारी वाहनों का आवागमन बहुत धीमा है। साढ़े चार किलोमीटर चलने में भारी वाहनों को आधा घंटा से 55 मिनट तक का समय लग रहा है। ऐसे में इस सड़क के कई मोड़ों तथा स्थानों को वोल्वो बसों के हिसाब से ठीक किया जाना है। इसको देखते हुए 21 सितंबर की मध्यरात्रि 12:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक इस सड़क को मरम्मत कार्य के लिए बंद रखा जाएगा। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर चंद्र  ने बताया कि छोटे वाहन कुल्लू-मंडी के बीच में वाया कमांद-कटौला यात्रा जा सकते हैं, लेकिन बड़े वाहनों को इंतजार करना पड़ेगा।




Post a Comment

0 Comments

बिलासपुर में हादसा, खाई में गिरी कार