Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

ओवरऑल श्रेणी में पहले टास्क में नेपाल के अमन प्रथम

                                                       पहले टास्क में कुल 66 प्रतिभागियों ने भाग लिया

नगरोटा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

नरवाणा में चल रहे पैराग्लाइडिंग के एक्यूरेसी प्री वर्ल्ड कप के दूसरे दिन ओवरऑल, महिला वर्ग और टीम इवेंट का आयोजन किया गया। पहले टास्क में कुल 66 प्रतिभागियों ने भाग लिया। दो राउंड के रिजल्ट के बाद ओवरऑल कैटेगरी में नेपाल के अमन थापा पहले स्थान पर रहे। भारत के जसवंत सिंह दूसरे और राजीव ठाकुर तीसरे स्थान पर रहे।

महिला कैटेगरी में भारत की तरन्नुम ठाकुर 301 स्कोर के साथ पहले, ऑस्ट्रिया की पोलीना दूसरे और भारत की स्वप्ना कुमारी तीसरे नंबर पर रहीं। टीम कैटेगरी में स्कोर 842 के साथ आकाश एडवेंचर-1 पहले स्थान पर रहे। इस टीम में पायलट यशपाल, अश्विनी ठाकुर, योगराज व मनोज कुमार शामिल रहे।प्रतियोगिता के दौरान विधायक सुधीर शर्मा भी लैंडिंग साइड पर मौजूद रहे। उन्होंने प्रतिभागी पायलटों के अलावा प्रतियोगिता के लिए पहुंचे पर्यवेक्षक और टीम के अन्य सदस्यों से भी मुलाकात की। प्री वर्ल्ड कप का आयोजन 17 नवंबर तक किया जा रहा है। 

विधायक सुधीर शर्मा ने कहा कि नरवाणा में पैराग्लाइडिंग एक्यूरेसी प्री वर्ल्ड कप के आयोजन के बाद यहां पर टेंडम उड़ानों को बल मिलेगा। इससे स्थानीय लोगों को स्वरोजगार के अवसर मिलेंगे। धर्मशाला और इसके आसपास के क्षेत्रों में देशभर से आने वाले पर्यटक भी पैराग्लाइडिंग का लुत्फ उठा सकेंगे। विधायक ने कहा कि कांगड़ा को पर्यटन राजधानी के रूप में विकसित किया जा रहा है।इसी दिशा में नरवाणा में पैराग्लाइडिंग की नई साइट को वर्ल्ड मैप पर दर्शाने के लिए पहल की गई है। धर्मशाला की खूबसूरत वादियां और यहां की आबोहवा देश-विदेश से सैलानियों को वर्षभर आकर्षित करती रही हैं। इसके दृष्टिगत ट्रैकिंग, कैंपिंग, पैराग्लाइडिंग और रिवर राफ्टिंग जैसी साहसिक गतिविधियों को विशेष तौर पर बढ़ावा दिया जा रहा है। नरवाणा में पैराग्लाइडिंग के वर्ल्ड कप के आयोजन के लिए भी तमाम सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।वहीं, टीम इवेंट में आकाश एडवेंचर के अमित कुमार, राजीव ठाकुर, रणजीत सिंह और शिवराज ठाकुर की टीम दूसरे स्थान पर रही। आर्मी-2 के जसवंत, भिंदर, राजेश कुमार और मनुज शामिल की टीम तीसरे स्थान पर रही।




Post a Comment

0 Comments

हिमाचल में जंगलों की आग ने पिछले साल का तोड़ा रिकॉर्ड