Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

50 लाख से होगा माता आशापुरी मंदिर का जीर्णोद्धार : यादविंदर गोमा

                                        कैलाशपुर से लड़गलु व आशापुरी सड़क पर व्यय होंगे 12 करोड़

पालमपुर,रिपोर्ट नेहा धीमान 

 कैबिनेट मंत्री,यादविंदर गोमा ने मंगलवार को जयसिंहपुर विधानसभा के अंतर्गत माता आशापुरी मंदिर में पूजा अर्चना की एवं माता का आशीर्वाद प्राप्त किया ! यादविंदर गोमा का रास्ते  में कैलाशपुर , मकोल व मल्ली में लोगों ने फूल मालाओं और बैंड बाजे के साथ भव्य स्वागत किया।गोमा ने कहा कि कुलदेवी माता आशापुरी का हमेशा आशीर्वाद रहा है।  उन्होंने बताया गोमा ने चुनावी रण में उतरने से पहले भी माता के दरबार मे हाज़री लगाकर अपनी जीत की कामना की थी । चुनाव जितने के बाद सबसे पहले उन्होंने अपने परिवार व सैंकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ माता  आशापुरी के दरबार में हाज़री लगाकर आशापुरी का धन्यवाद किया था। 

मंत्रिमंडल विस्तार में  प्रदेश सरकार में  यादविंदर गोमा को कैबनेट मंत्री का दर्जा मिला है। मंत्री बनने के बाद मंगलवार को यादविंदर गोमा ने बैंड-बाजों के साथ  परिवार व सैंकडों कार्यकर्ताओं सहित माता आशापुरी के दरवार मे शीश नवाया व आशीर्वाद लिया। जयसिंहपुर विधानसभा से 57 वर्ष बाद  मंत्री पद पर नवाजे जाने से  क्षेत्र के लोगों और कार्यकर्ताओं में खुशी है।  यादविंदर गोमा ने कहा कि जयसिंहपुर विधानसभा के लोगों ने चुनावों में उन्हें आशीर्वाद दिया और  विधायक बनाया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुखू ने उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाकर  विधानसभा क्षेत्र के लोगों का दिल जीत लिया है। गोमा ने कहा कि मुख्यमंत्री की दूरदर्शी सोच व कुशल नेतृत्व से हिमाचल में विकास कार्यों में कोई कमी नहीं होगी।

उन्होंने विधानसभा के लोगो को विश्वास दिलाते हुए कहा कि जैसे जयसिंहपुर विधानसभा के लोगों ने उन पर भरोसा करके विधायक बनाया उसे कायम रखते हुए  जयसिंहपुर विधानसभा में विकास की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।मन्त्री ने कहा कि माता आशापुरी मन्दिर के जीर्णोद्धार के लिये पच्चास लाख रुपये स्वीकृत किये गए गये हैं। जल्द ही इसका कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। इसके अलावा कैलाशपुर से लड़गलु व लड़गलु से आशापुरी सड़क को नाबार्ड के तहत बनाया जाएगा जिसमे लगभग 12 करोड़ रुपये खर्च होंगे। माता आशापुरी मन्दिर को जाने वाली सड़क मार्ग पर कैलाशपुर में दस लाख से गेट बनाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त भी बहुत सारे विकास कार्य चल रहे है। 



Post a Comment

0 Comments

आपदा का खतरा: जवाली क्षेत्र में लैंटर गिरने से हो गया बड़ा हादसा