Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

नशा मुक्त ऊना अभियान के तहत हर घर दस्तक अभियान में अब नशे से संबंधित मरीजों का हो रहा है इलाज शुरु

                             नशा मुक्त ऊना अभियान में नशे के मरीजों का होगा इलाज : कुलतार

ऊना,रिपोर्ट अविनाश चौहान 

नशा मुक्त ऊना अभियान के तहत हर घर दस्तक अभियान में अब नशे से संबंधित मरीजों का इलाज शुरु हो रहा है। यह बात नायब तहसीलदार जोल कुलतार चंद ने ग्राम पंचायत खरयालता में अभियान की शुरुआत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि अब नशे के जाल में फंसे हुए मरीजों का इलाज संभव हो जाएगा। लोग सही जानकारी नहीं होने की वजह से नशे के जाल में तो फंस जाते हैं, लेकिन अगर नशे के जाल से बाहर निकलना होता है तो सही इलाज और जानकारी न होने की वजह से निकल नहीं पाते थे। 

अब नशा मुक्त ऊना अभियान के हेल्पलाइन नंबर 9418064444 पर कॉल करके नशे से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। पूरे जिले में हर ब्लॉक में हर घर दस्तक अभियान चलाया जा रहा है।हरोली ब्लॉक की ग्राम पंचायत अप्पर पालकवाह  में हर घर दस्तक अभियान की शुरुआत हुई जिसकी अध्यक्षता संदीप अग्निहोत्री ने की। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने नशा मुक्त ऊना अभियान चलाकर युवा पीढ़ी को नशे से पीड़ित लोगों को बचाने का प्रयास और उज्जवल भविष्य की तरफ एक अच्छा वातावरण बनाने की पहल की है। संदीप अग्निहोत्री ने नशे की गंभीरता को बताते हुए कहा कि हम सब कोशिश करें की नशे की बीमारी हो ही न, यदि यह बीमारी हो जाती है तो इस का इलाज बहुत लम्बा है और ग्रसित व्यक्ति एवं उस के परिवार के लिए बहुत कष्टदायक है। संदीप अग्निहोत्री ने ‘घर’ शब्द की अहमियत को भी बताया ओर कहा कि घर से ही समाज बनता है अगर एक एक घर स्वस्थ होने की कोशिश करके सफल हो तो हमारा समाज ख़ुद स्वास्थ्य होगा।  उन्होंने हर घर दस्तक के महत्व को भी समझाया एवं सभाजनों से आग्रह किया वे मिल जुल कर नशा मुक्त ऊना अभियान को हर घर तक पहुँचने में अपना योगदान दें।

उन्होंने कहा कि बहुत से लोग जानकारी के अभाव के कारण नशे से पीड़ित अपने लोगों का नशे से बचाव नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए जिला प्रशासन ने हर घर दस्तक अभियान को चलाया है कि नशे से कैसे बचाव किया जा सकता है। यह जानकारी हर आमजन तक पहुंचाने के लिए हर घर दस्तक दी जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन के हर घर दस्तक अभियान का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक करना एवं बच्चों पर ध्यान देना है। उन्हंे अच्छे कामों की तरफ प्रेरित करना, बच्चो को समझना, उनका दोस्त बनना और बच्चों को नशे के दुष्प्रभाव व उसके परिणामों की जानकारी देकर जागरूक करना जरूरी है ताकि बच्चे नशे से दूर रह पाएं। उन्होंने कहा कि यदि किसी को नशे से संबंधित जानकारी चाहिए तो वे नशा मुक्त ऊना आभियान के हेल्प लाइन नंबर 94180-64444 पर कॉल कर सकते हैं। 

इसके अतिरिक्त उन्होंने कहा कि हमें तीन मुख्य बातों पर गोर करनी होगी तथा 8 से 15 साल की उम्र के बच्चों पर अधिक ध्यान दें एवम् उनके साथ अधिक समय व्यतीत करें,  बच्चों की संगत का विशेष ध्यान रखें,  अगर बच्चा नशे की ग़लत संगत में चला गया है तो उसे डाँट या मार के नहीं अपितु प्यार से उन्हें समझा के उन्हें इस से दूर ले के जाये और यदि कोई आपके आस पास नशे का सेवन या नशे का कारोबार कर रहा है तो आप ड्रग फ्री हिमाचल ऐप पर इसकी जानकारी दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि आप अगर इस ऐप के जरिए किसी की जानकारी देते हो तो आपकी आइडेंटिटी को गोपनीय रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपना ध्यान खेलकूद प्रतियोगिताओं पर केंद्रित करना चाहिए ताकि नशे जैसी गतिविधियों से बचा जा सके।इस अभियान की जानकारी देते हुए नशा मुक्त ऊना प्रोग्राम अधिकारी हरोली ने आमजन से अपील भी की और बताया कि अब इस बीमारी से लड़ने के लिए हमारे ब्लॉक के डॉक्टर भी अहम भूमिका निभाएंगे। उन्होंने बताया कि अब हमारे हॉस्पिटल में इस बीमारी का इलाज शीघ्र ही शुरु किया जायेगा जिससे कि लोग नशे जैसी बीमारी का इलाज करवा पायेंगे। इसलिए उन्होंने लोगों से अपील की कि वह ये जानकारी अधिक से अधिक लोगों के साथ सांझा करें। उन्होंने कहा कि हमें इस अभियान में एकजुट होकर काम करने की आवश्यकता है।


Post a Comment

0 Comments

4 मार्च से ऊना-हरिद्वार ट्रेन सेवा शुरू होगी