Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

संगत तय करती है कि आप कहां तक पहुंचोगे

                                                      आगे बढ़ने की होड़ से ही मिलता है मुकाम

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

 संगत तय करती है कि आप कहां तक पहुंचोगे। अगर स्कूल स्तर से ही संगत अच्छी रखोगे तो सब कुछ अच्छा होगा। यह बात अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कन्या धर्मशाला में आयोजित ‘अपराजिता-100 मिलियंस स्माइलस’ कार्यक्रम के दौरान डीएसपी हेडक्वार्टर निशा कंग ने कही। उन्होंने कहा कि आज के दौर में प्रतिस्पर्धा बहुत जरूरी है। उन्होंने अपना एक अनुभव साझा करते हुए बताया कि जब वह पढ़ती थीं तो उनकी सहेलियों में होड़ रहती थी कि कौन किससे ज्यादा अंक लाएगा। इसी होड़ ने आज उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाया है।

उन्होंने कहा कि जितना हो सके, मोबाइल फोन से दूर रहना चाहिए। मोबाइल से जितना दूर रहेंगी, उतना ही उनके लिए अच्छा होगा। उन्होंने यह भी कहा कि अनजान लोगों से दूरी बनाए रखना चाहिए क्योंकि आज के समय में साइबर अपराधों का अधिक बोलबाला हो गया है। उन्होंने छात्राओं को गुड टच और बैड टच, ऑटिफिशयल इंटेलिजेंस की मदद से फोटो एडिट कर साइबर अपराध को अंजाम देने, पोक्सो एक्ट, घरेलू हिंसा, महिला उत्पीड़न और पुलिस विभाग में नौकरी हासिल करने आदि जैसे विषयों के बारे में जानकारी भी दी।

कार्यक्रम के दौरान डीएसपी ने छात्राओं से पुलिस विभाग में नौकरी की प्रक्रिया जानने के लिए पूछा तो सभी छात्राओं ने एक स्वर में इस प्रक्रिया को जानने की इच्छा जताई। डीएसपी ने बताया कि कांस्टेबल स्तर पर भर्ती होने के लिए जमा दो की पढ़ाई जरूरी है, जबकि इसके ऊपर के रैंकों पर नौकरी हासिल करने के लिए स्नातक होना जरूरी है। राज्य लोक सेवा आयोग के माध्यम से एचपीएस और संघ लोक सेवा आयोग के माध्यम से आईपीएस भर्ती के बारे में बताया।

गर्ल्स स्कूल धर्मशाला की प्रधानाचार्य ममता ठाकुर ने कहा कि अमर उजाला फाउंडेशन इस तरह के कार्यक्रमों से चाह की राह लेकर आया है। इस दौरान उन्होंने छात्राओं से कहा कि अगर मेहनत करोगे तो बहुत आगे तक पहुंच सकती हैं। अमर उजाला की ओर से आयोजित यह कार्यक्रम छात्राओं को भविष्य में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगा। कार्यक्रम में अध्यापिकाएं दिशा और सविता भी मौजूद रहीं।


Post a Comment

0 Comments

सात एचपीएस अधिकारियो को पुलिस अधीक्षक का रूप मे नियुक्ति