Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने बताया कि अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा

                                रोहित ठाकुर बोले-अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाने के लिए शिक्षकों को देंगे प्रशिक्षण

धर्मशाला,रिपोर्ट मोनिका शर्मा 

शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने बताया कि अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। अंग्रेजी माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाने का कार्य सुगमता से करने में शिक्षकों को सक्षम बनाने के लिए विभिन्न कार्यशालाएं भी होंगी। बुधवार को विधानसभा सदन में भाजपा विधायक सतपाल सिंह सत्ती के सवाल का लिखित जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2024-25 से पहली और दूसरी कक्षा में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई करवाई जाएगी। 12 दिसंबर 2023 को इस बाबत अधिसूचना जारी की गई है।

वर्तमान में प्रदेश के कुल 2553 स्कूलों में हिंदी और अंग्रेजी दोनों माध्यमों से शिक्षा प्रदान की जा रही है। इसमें 907 राजकीय प्राथमिक स्कूल, 291 माध्यमिक स्कूल, 325 उच्च स्कूल और 1030 वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सरकार ने शिक्षकों की क्षमता संवर्धन पर विशेष ध्यान केंद्रित करने का फैसला लिया है। इसके अलावा समय-समय पर औचक निरीक्षणों और स्थानीय स्कूल प्रबंधन समितियों को सम्मिलित कर उनके सहयोग से सुनिश्चित किया जाएगा कि स्कूलों में समुचित ढंग से शिक्षक अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा प्रदान करें। हिमाचल प्रदेश में एक अप्रैल तक छह साल की आयु पूरी करने पर ही बच्चों को पहली कक्षा में दाखिला मिलेगा। एक अप्रैल के बाद जन्मे बच्चों को अगले शैक्षणिक सत्र में दाखिला दिया जाएगा। बुधवार को विधानसभा सदन में विधायक पवन कुमार काजल के सवाल का लिखित जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री ने बताया कि सरकार तय सीमा को बढ़ाकर सितंबर या अक्तूबर तक करने का कोई विचार नहीं रखती है।

 हिमाचल प्रदेश में गत तीन वर्षों में 31 जनवरी 2023 तक नए खुले और अपग्रेड हुए कार्यालय-शिक्षण संस्थानों की संख्या 923 रही। इसमें 363 कार्यालय नए खोले गए और 65 को अपग्रेड किया गया। 121 शिक्षण संस्थान नए खोले गए और 374 को अपग्रेड किया गया। कांग्रेस विधायक संजय रत्न और मलेंद्र राजन के सवाल का लिखित जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि नए खोले या अपग्रेड किए गए कार्यालयों में 3,067 और शिक्षण संस्थानों में 3,344 स्वीकृत पद थे, इनमें 1,221 नियुक्तियां कार्यालयों और 1,847 नियुक्तियां शिक्षण संस्थानों में की गईं। कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों में स्वीकृत पदों को भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में भरने की प्रक्रिया जारी है।शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने बताया कि प्रदेश के करीब 6,000 स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं चल रही हैं। आने वाले दिनों में ऐसे स्कूलों में नर्सरी टीचर ट्रेनिंग करने वाले शिक्षकों को नियुक्त किया जाएगा जहां विद्यार्थियों की संख्या 10 से अधिक होगी। गगरेट से विधायक चैतन्य शर्मा ने प्री प्राइमरी स्कूलों में रिक्तियों को भरने का सवाल सदन में उठाया था। 


 प्रदेश में कुल 953 जल विद्युत परियोजनाएं बीओओटी के आधार पर निजी और सरकारी और संयुक्त क्षेत्र में आवंटित की गई हैं। इन परियोजनाओं से सरकार को मुफ्त बिजली राॅयल्टी के माध्यम से मिलती है। वर्ष 2022-23 में मुफ्त बिजली रायल्टी के विक्रय से प्रदेश सरकार को कुल 1,407 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। कांग्रेस विधायक केवल सिंह पठानिया के सवाल का लिखित जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि 15 नवंबर 2023 तक प्री कमिश्निंग लाडा में कुल 103.2466 करोड़ रुपये की राशि सरकार को प्राप्त हुई है। 58 निर्माणाधीन हैं। 28 परियोजनाओं का काम बंद है।


Post a Comment

0 Comments

4 मार्च से ऊना-हरिद्वार ट्रेन सेवा शुरू होगी