Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

ऎ मेरे वतन के लोगों , जरा आंख में भर लो पानी , जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी

 प्रवीन कुमार ने कहा कि कारगिल युद्ध के दौरान पालमपुर हल्के से एक बीर सैनिक व दो सैन्य अधिकारी शहीद हुए हैं

पालमपुर,रिपोर्ट प्रवीण  शर्मा 

संगीत की मलिका लता मंगेशकर द्वारा शहीदों के निमित गाये इस गाने के एक एक शब्द को समाज सेवा में समर्पित इन्साफ संस्था ने पालमपुर विधान सभा क्षेत्र में प्रमाणित करने का संकल्प लिया है। यह विचार आज पालमपुर के प्रैस क्लब में इन्साफ संस्था द्वारा आयोजित एक पत्रकार वार्ता में इन्साफ संस्था के अध्यक्ष एवं पालमपुर के पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने व्यक्त किये । प्रवीन कुमार ने कहा कि कारगिल युद्ध के दौरान पालमपुर हल्के से एक बीर सैनिक व दो सैन्य अधिकारी शहीद हुए हैं। 

मातृ भूमि की रक्षा करते करते अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले इस भारत- पाक युद्ध के पहले बीर योद्धा की यादगार में तत्कालीन केन्द्रीय मन्त्री एवं निवर्तमान मुख्यमन्त्री श्री शान्ता कुमार जी ने खूबसूरत सौरव वन विहार का निर्माण करवाया। जो आज पालमपुर में एक आलीशान पर्यटन स्थल के रुप में उभरा है। इसी तर्ज पर इन्साफ संस्था ने कारगिल युद्ध के दूसरे हीरो परमवीर चक्र विजेता कैप्टन विक्रम बत्रा जी की यादगार में विन्द्रावन में आयोजित अपने तृतीय वन महोत्सव में समारोह के मुख्य अतिथि श्री शान्ता कुमार जी के समक्ष प्रस्तावना प्रेषित की कि प्राकृतिक के आपार सौन्दर्य से भरपूर विन्द्रावन के इस खूबसूरत जंगल को भी सौरव वन विहार की तरह विक्रम बत्रा वन विहार के रुप में संवारा जाये ।

 परिणामस्वरूप इन्साफ संस्था की  प्रस्तावना , डी एफ ओ डा. नितिन पाटिल की मेहनत , श्री शान्ता कुमार जी की दृढ़ता से अनुशंसा पर तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर जी ने 2 करोड़ 10 लाख व सांसद किशन कपूर जी के हस्तक्षेप से केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मन्त्री श्री भूपेन्द्र यादव जी ने 2 करोड़ कुल 4 करोड़ 10 लाख रुपये इसके लिए मंजूर हो चुके हैं । इस तरह प्रस्तावित इस वन विहार की भी टैण्डर प्रकिया पूरी हो चुकी है। पूर्व विधायक ने बताया इसी कारगिल युद्ध के पालमपुर विधानसभा सभा क्षेत्र से तीसरे शहीद बीर सैनिक राकेश कुमार जी के नाम गोपालपुर के प्राकृतिक चेतना केन्द्र ( चिड़ियाघर ) का नाम रखने का संस्था ने आग्रह किया है क्योंकि शहीद राकेश इसी प्राकृतिक चेतना केन्द्र के साथ लगते गाँव के निवासी है।

इस तरह शहीदों के सपनों का भारत की कड़ी में इस बार संस्था ने अपना षष्टम (छठा) वन महोत्सव गत 25 अगस्त को भारत वर्ष के प्रथम शहीद मेजर सोम नाथ शर्मा जी की स्मृति में उनके पैत्रिक गाँव डाढ में समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमन्त्री श्री शान्ता कुमार जी व विशेष अतिथि चन्द्र यान 3 इसरो कन्ट्रोल रुम के वैज्ञानिक डा  रजत अवस्थी जी के पिता श्री धनी राम जी ( से नि वी डी ओ ) के कर कमलो द्वारा पौधा रोपित करके मनाया गया । इन्साफ संस्था के अध्यक्ष ने बताया कि इस समारोह के उपरांत इस प्रस्तावित मेजर सोम नाथ वन वाटिका ( स्मारक) के सौन्दर्य करण के लिए उन्होंने लोस सभा सांसद श्री किशन कपूर जी सहित  राज्य सभा के तीनों सांसदों  को पत्र लिखकर इस प्रस्तावित वन वाटिका एवं स्मारक के लिए  सांसद निधि से धन राशि स्वीकृत करने का आग्रह किया था । उस एवज़ में श्री किशन कपूर जी ने पहल करते हुए इस प्रस्तावित वन वाटिका एवं स्मारक के लिए 50 लाख मंजूर कर उपायुक्त महोदय को पत्र लिख दिया है। इसके लिए इन्साफ संस्था सांसद महोदय का तहेदिल से आभार एवं धन्यवाद व्यक्त करती है। 


Post a Comment

0 Comments

4 मार्च से ऊना-हरिद्वार ट्रेन सेवा शुरू होगी