Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मंडी की बरोट वैली भी पर्यटकों से गुलजार हो चुकी है

                                    नए साल के जश्न से पहले बरोट घाटी पर्यटकों से गुलजार

मंडी,ब्यूरो रिपोर्ट 

पर्यटन नगरी मनाली में बढ़ती पर्यटकों की संख्या के साथ अब मंडी की बरोट वैली भी पर्यटकों से गुलजार हो चुकी है। यहां पर नए साल के जश्न को लेकर वीकेंड में बड़ी संख्या में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान के पर्यटक आ पहुंचे हैं। पर्यटकों की बढ़ती आमद के साथ यहां के पर्यटन को भी पंख लगे हैं। जिससे यहां के कारोबारियों के चेहरे खुशी से खिल उठे हैं।

द्रंग हल्के की चौहार घाटी के अनछुए पर्यटन स्थलों में बर्फबारी का आनंद लेने के लिए भी पर्यटकों की भीड़ उमड़ी है। अधिकांश होटल, कैंप साइट और होम स्टे बुक हो गए हैं। बावजूद पर्यटकों की आवाजाही थमने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार और रविवार को ही बरोट वैली में करीब तीन हजार से अधिक पर्यटकों का आवागमन हुआ है और नए साल के जश्न को लेकर यहां आंकड़ा तीन गुना बढ़ सकता है। इसलिए यहां पर सुरक्षा के भी पुख्ता प्रबंध कर रखे हैं।

वहीं, चौहार घाटी इन दिनों प्राकृतिक सौंदर्य और साहसिक गतिविधियों का लुत्फ उठाने के लिए पर्यटकों का हब बन चुकी है। समुद्र तल से करीब छह हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित उहल नदी के किनारे बसा बरोट देश विदेश के पर्यटकों के लिए डेस्टिनेशन बना हुआ है। यहां पर देवदार के घने जंगलों के बीच पर्यटक प्रकृति की खूबसूरती के बीच ट्रैकिंग से लेकर फिशिंग, कैंपिंग का मजा लेने पहुंच रहे हैं। ब्रिटिशकाल में स्थापित शानन पावर हाउस की रेजर वायर और उहल नदी भी पर्यटकों के मनोरंजन का आकर्षण बनी हुई है। इसके अलावा ट्राउट फिश के शौकीन भी बरोट वैली में डेरा जमाए हुए हैं।

उधर, मंडी कांगड़ा सीमा पर सटे बीड़ बिलिंग घाटी में भी पर्यटकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां पर विश्व प्रसिद्ध पैराग्लाईडिंग साइट में साहसिक गतिविधियों के लिए देशभर के पर्यटक पहुंच रहे हैं। लंबे अरसे बाद पर्यटक बीड़, बिलिंग, चौगान और क्योर स्थित कैंपिंग साइट में पहुंच कर फायर बोर्न का भी लुत्फ उठा रहे हैं। होटल, रिजॉर्ट ऑनलाइन बुक हो चुके हैं। अब टैंट लगाकर भी पर्यटक नए साल का जश्न मनाने के लिए आ पहुंचे है।पधर उपमंडल के उपमंडलाधिकारी सुरजीत सिंह ने बताया कि नए साल के जश्न को लेकर बरोट वैली में पर्यटकों की आमद में इजाफा हुआ है। वहीं, डीएसपी संजीव सूद ने बताया कि नियमित गश्त की जा रही है।



Post a Comment

0 Comments

बाढ़ से बचाब के लिए चक्की पुल पर लगेगी 109 करोड़ की  सुरक्षा दीवार