Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

नव वर्ष के उपलक्ष में तीन शक्तिपीठों में पहुंचे 47,000 श्रद्धालु

                                           बैजनाथ, बगलामुखी समेत सभी मंदिरों में भी उमड़ी भीड़

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

 जिले के सभी शक्तिपीठों श्री ज्वालाजी, श्री चामुंडा और श्री बज्रेश्वरी मंदिर में नववर्ष के मौके पर 47 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने शीश नवाकर नववर्ष का आगाज किया। इसके अलावा मां बगलामुखी और बैजनाथ शिव मंदिर समेत जिले के सभी मंदिरों में भीड़ रही। शक्तिपीठ ज्वालामुखी मंदिर में इस बार नववर्ष का आगाज बेहतर रहा। साल के पहले दिन सोमवार को लगभग 25 हजार श्रद्धालुओं ने माता ज्वाला के दरबार में हाजिरी भरी और दिव्य ज्योतियों के दर्शन कर मां का आशीर्वाद लिया। मंदिर में सुबह पांच बजे ही श्रद्धालुओं ने लाइनें देखने को मिली।

गर्भ गृह में आरती और नववर्ष पर विशेष भोग प्रसाद के बाद श्रद्धालुओं को दर्शन हुए। मंदिर में यात्रियों को ठंड के कारण थोड़ी परेशानी हुई, लेकिन माता के जयकारों के साथ श्रद्धालु श्रद्धा से दर्शन करते रहे। नववर्ष के पहले दिन श्रद्धालुओं ने हवन यज्ञ में भी आहुतियां डालीं। दिल्ली और करनाल से आए पविंद्र, मनोज, रोहित ने बताया कि वे हर साल नव वर्ष पर माता को दर्शनों को आते हैं। मंदिर प्रशासन ने बहुत अच्छी व्यवस्था की है और दर्शनों में परेशानी नहीं हुई। होशियारपुर और जालंधर से आए दीपू, शक्तिचंद, अशोक, महिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस प्रशासन की व्यवस्था बहुत अच्छी है। पालमपुर, नादौन, हमीरपुर से आए रामू, संदीप, अंशुल, अमित, दीप, मुकेश, बबिता ने बताया कि नव वर्ष पर काफी भीड़ देखी गई, पर सभी ने आराम से दर्शन किए। ज्वालाजी के सभी होटल और गेस्ट हाउस 31 दिसंबर रात को ही बुक हो गए थे।उधर, एसडीएम डॉ. संजीव शर्मा ने सभी को नववर्ष की हार्दिक बधाई दी और बताया कि अतिरिक्त होमगार्ड भीड़ नियंत्रित करने के लिए लगाए गए, सुबह से ही हजारों श्रद्धालु दर्शनों को पहुंचे। श्रद्धालुओं के लिए इस बार लंगर में विशेष व्यवस्था की गई थी और कई प्रकार के व्यंजन बनाए गए थे। सफाई व्यवस्था और पेयजल की पूर्ण व्यवस्था की गई थी।

माता के दरबार मे भजन गायक सौरभ शर्मा ने माता की चौकी का आयोजन किया। शहर में भी श्रद्धालुओं की ओर से भजन कीर्तन और लंगर व्यवस्था की गई थी। श्रद्धालुओं ने मोदी भवन, अकबर छत्र, शैया भवन, गोरख डिब्बी, मुरली मनोहर मन्दिर, लाल शिवालय, शिव शक्ति, तारा देवी, अर्जुननागा, टेढ़ा मंदिर और भैरो मंदिर में नववर्ष पर दर्शन किए।नववर्ष पर श्री चामुंडा नंदिकेश्वर धाम में वर्ष के प्रथम दिन बड़ी संख्या में आस्था का सैलाब उमड़ा। सुवह पांच बजे मंदिर के कपाट खुलते ही लंबी लाइनें लगनी शुरू हो गईं, जो कि दिन भर जारी रहीं। करीब 10 हजार श्रद्धालुओं ने मां तथा भोले बाबा के दर नतमस्तक होकर सुख-समृद्धि की कामना की। मंदिर अधिकारी गिरि राज ठाकुर ने बताया कि सैलाब के मद्देनजर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। यह सिलसिला सुबह पांच बजे से शाम सात बजे तक बदस्तूर चलता रहा। वहीं, चामुंडा मंदिर के समाजसेवी अमित मेहता, मदन गोस्वामी, सुभाष, विनोद, संजू और अवस्थी आदि ने नववर्ष के मौके पर हलवे का प्रसाद वितरित किया।

कोटला के प्रसिद्ध सिद्ध शक्तिपीठ मां बगलामुखी मंदिर में सोमवार को नववर्ष के पहले दिन श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। सैकड़ों भक्ताें ने माता बगलामुखी दर्शन कर मंगल कामना की। सुबह से ही बगलामुखी मंदिर में श्रद्धालु मंदिर का आना शुरू हो गया और देर शाम तक यह दौर जारी रहा। प्राकृतिक शिव मंदिर त्रिलोकपुर में फोरलेन कार्य के चलते टूटे हुए रास्ते के बावजूद श्रद्धालुओं ने खड्ड पार कर भगवान भोलेनाथ के दर्शन कर नववर्ष की शुरुआत की। इसके अलावा नववर्ष के पहले दिन कोटला बाजार में हलवे का प्रसाद बांटा गया।



Post a Comment

0 Comments

सात एचपीएस अधिकारियो को पुलिस अधीक्षक का रूप मे नियुक्ति