Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

छह मील के पास बड़े-बड़े पत्थर और मलबा गिरने से चंडीगढ़-नमानली बंद

पहाड़ी से बड़ी मात्रा में बड़े-बड़े पत्थर और मलबा गिरा है। इसकी चपेट में मौके पर काम कर रही जेसीबी मशीन और इसका ऑपरेटर आ गया है।

हिमाचल 

पहाड़ी से बड़ी मात्रा में बड़े-बड़े पत्थर और मलबा गिरा है। इसकी चपेट में मौके पर काम कर रही जेसीबी मशीन और इसका ऑपरेटर आ गया है।  चंडीगढ़-मनाली फोरलेन पर मंडी और पंडोह के बीच छह मील के पास पहाड़ी फिर दरक गई है। पहाड़ी से बड़ी मात्रा में बड़े-बड़े पत्थर और मलबा गिरा है। 


इसकी चपेट में मौके पर काम कर रही जेसीबी मशीन और इसका ऑपरेटर आ गया। मशीन ऑपरेटर के मलबे में दबने की सूचना है। हादसा दोपहर करीब डेढ़ बजे हुआ। हादसे की सूचना मिलते ही एनएचएआई, केएमसी कंपनी प्रबंधन, जिला प्रशासन और पुलिस का बचाव दल मौके के लिए रवाना हुआ। हाईवे पर भारी मात्रा में मलबा आने के चलते यातायात पूरी तरह से बंद हो गया है। 


वाहनों को मंडी से कुल्लू वाया कटौला और पंडोह से गोहर होते हुए सुंदरनगर भेजा जा रहा है। जानकारी के अनुसार केएमसी कंपनी का ठेकेदार यहां पर पहले से गिरे हुए मलबे को हटाने का कार्य कर रहा था। तभी अचानक पहाड़ी से बड़ी मात्रा में पत्थर और मलबा गिर गया। बताया जा रहा है कि मशीन ऑपरेटर ने खतरे को भांपते हुए मशीन से बाहर निकलकर भागने की कोशिश भी की थी, लेकिन कामयाब नहीं हो पाया और मलबे में ही दब गया। 


पुलिस के अनुसार मलबे में दबे जेसीबी मशीन ऑपरेटर को सुरक्षित बाहर निकालने का अभियान जारी है। मलबा हटाकर ऑपरेटर को   निकालने की कोशिश की जा रही है। एसडीआरएफ की टीम भी बुलाई गई है। भूस्खलन से बंद हाईवे को खुलने में छह से सात घंटे लग सकते हैं। मंडी तथा कल्लू के बीच में यात्रा करने वाले लोग बाया कटिंडी-कटौला सड़क से यात्रा करें। 


Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी