Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हमीरपुर की वरिष्ठ सहायक उमा आजाद को विजिलेंस ने पेपर लीक मामले में फिर किया गिरफ्तार

             सचिवालय क्लर्क भर्ती पेपर लीक मामले में वरिष्ठ सहायक उमा आजाद समेत तीन गिरफ्तार

हमीरपुर,ब्यूरो रिपोर्ट 

पेपर लीक मामले में मुख्य आरोपी पूर्व हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर की वरिष्ठ सहायक उमा आजाद को विजिलेंस ने फिर गिरफ्तार किया है। जेई सिविल पोस्ट कोड 970 में एक दिन पहले ही उमा को जमानत मिली थी। अब मुख्य आरोपी को सचिवालय क्लर्क पोस्ट कोड 962 भर्ती मामले में गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही विजिलेंस ने दो अन्य आरोपी भी पकड़े हैं।

 इनमें आयोग कार्यालय के सामने ढाबा चलाने वाला सोहन सिंह गांव धुंधला, ऊना और निलंबित ट्रैफिक इंस्पेक्टर रवि कुमार शामिल हैं। शुक्रवार सुबह पहले विजिलेंस ने दोनों आरोपी पकड़े और बाद में उमा आजाद को गिरफ्तार किया गया। अदालत से विजिलेंस ने उमा को 11 और अन्य दो को 13 फरवरी तक रिमांड पर लिया है।29 अप्रैल 2023 को पहली बार विजिलेंस ने पोस्ट कोड 962 में आरोपी सोहन सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। विजिलेंस ने सोहन सिंह और एक अन्य आरोपी रवि कुमार को पूछताछ के लिए बुलाया था।


 दोनों के मोबाइल से सचिवालय क्लर्क भर्ती का प्रश्नपत्र मिला है। इसके बाद ही उमा को गिरफ्तार किया गया। कितने अभ्यर्थियों को प्रश्नपत्र बेचा गया है, फिलहाल विजिलेंस जांच में जुटी है। सचिवालय क्लर्क भर्ती का नतीजा अभी तक घोषित नहीं हो पाया है। पेपर लीक मामले में अब तक 13 एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। साक्ष्य मिलने के बाद सोहन सिंह और रवि कुमार को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, आरोपी उमा आजाद को भी फिर गिरफ्तार किया गया है। उमा को 11 और अन्य दो को 13 फरवरी तक रिमांड पर लिया गया है।



Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी