Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

माता बागेश्वरी का नौ मंजिला मंदिर चढ़ गया आग की भेंट

                                         ठियोग में नौ मंजिला 500 साल पुराना मंदिर और 100 मूर्तियां जलीं

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

शिमला जिले के ठियोग उपमंडल की कुठार पंचायत में शुक्रवार सुबह माता बागेश्वरी का नौ मंजिला मंदिर आग की भेंट चढ़ गया। करीब 500 वर्ष का इतिहास समेटे इस मंदिर में रखीं देवी-देवताओं की करीब 100 मूर्तियां, सोने-चांदी के आभूषण और अन्य सामग्री जल गईं। शार्ट सर्किट से लगी आग में करीब एक करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया गया है। तीन जिलों शिमला, सोलन और सिरमौर के हजारों लोगों की आस्था के केंद्र इस मंदिर में शुक्रवार सुबह रोजाना की तरह आठ बजे के करीब पूजा-अर्चना की गई।

इसके बाद मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए। सुबह करीब 9:30 बजे मंदिर से ग्रामीणों ने धुआं निकलते देखा। देखते ही देखते आग की लपटों ने पूरे मंदिर को अपनी चपेट में ले लिया और कुछ ही समय में मंदिर पूरी तरह जल गया। मंदिर में रखी देवी-देवताओं की मूर्तियों सहित सोने और चांदी के आभूषण और अन्य सामग्री भी राख हो गई। दमकल कर्मियों की मदद से मंदिर के साथ लगते घरों को जलने से बचाया जा सका। पंचायत उपप्रधान संजय माल्टा ने बताया कि आग की घटना में करीब एक करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

 उन्होंने बताया कि आग लगते ही इसकी सूचना पुलिस और दमकल विभाग को दे दी गई, लेकिन तंग सड़क और रास्तों में वाहन खड़े होने के कारण दमकल वाहन को मंदिर तक पहुंचने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।आग पर काबू पाने के लिए दोपहर तीन बजे तक दमकल कर्मी जुटे रहे। मंदिर को जलने से तो नहीं बचाया जा सका, लेकिन साथ लगते घरों को जलने से बचा लिया गया।उधर, डीएसपी ठियोग सिद्धार्थ शर्मा ने बताया कि दमकल वाहन और कर्मी जब तक पहुंचे, तब तक मंदिर जल गया था। उन्होंने बताया कि आग शार्ट सर्किट के कारण लगी है। साथ ही मंदिर में करीब 20 लाख रुपये के आभूषण और अन्य संपत्ति राख हो हुई है। आग पर काबू पाकर साथ लगते मकानों को सुरक्षित कर लिया गया है।




Post a Comment

0 Comments

गेट बना नहीं लेकिन लोहे को जंग लग गया वो अलग बात