Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल तकनीकी शिक्षा बोर्ड धर्मशाला में यूएमसी केसों का किया गया निपटारा

                                                 तकनीकी शिक्षा बोर्ड में यूएमसी केसों की सुनवाई

धर्मशाला,रिपोर्ट मोनिका शर्मा 

सर, पता नहीं मेरे पास यह पर्ची कहां से आ गई। मैं, इसके बारे में कुछ भी नहीं जानता था। यह जवाब तकनीकी शिक्षा बोर्ड धर्मशाला में यूएमसी केसों के निपटारे के लिए रखी सुनवाई के दौरान नकल करते पकड़े अभ्यर्थियों ने कही। कई अभ्यर्थियों ने कहा कि उनसे गलती हो गई और वे आगे से दोबारा नकल नहीं करेंगे,हिमाचल प्रदेश तकनीकी शिक्षा बोर्ड ने दिसंबर-जनवरी में इंजीनियरिंग डिप्लोमा और डी फार्मेसी की परीक्षाओं का आयोजन प्रदेश में 30 परीक्षा केंद्रों में किया था। 

इस दौरान बोर्ड ने फ्लाइंग स्क्वायड और सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से नकलचियों पर नजर रखी थी। नकल करते पकड़े 73 परीक्षार्थियों के यूएमसी केस बनाए थे। इनमें से 15 यूएमसी केस सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से रखी जा रही निगरानी के तहत बनाए गए थे।परीक्षाओं के दौरान नकल करते पकड़े अभ्यर्थियों को तकनीकी शिक्षा बोर्ड की ओर से पक्ष रखने के लिए 16 और 17 फरवरी को मौका दिया है। शुक्रवार को तकनीकी शिक्षा बोर्ड मुख्यालय धर्मशाला में नकल करते हुए 53 परीक्षार्थियों को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया गया था, लेकिन इनमें से 45 के करीब अभ्यर्थी ही पहुंचे। 

अधिकतर अभ्यर्थियों ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि उनके पास नकल की पर्ची कहां से आ गई। कई अभ्यर्थियों का कहना था कि उनसे गलती हो गई है और वे दोबारा नकल नहीं करेंगे। तकनीकी शिक्षा बोर्ड के सचिव अशोक पाठक ने बताया कि परीक्षाओं के दौरान नकल करते पकड़े अभ्यर्थियों को अपना पक्ष रखने के लिए शुक्रवार को बुलाया गया था। इस दौरान 45 अभ्यर्थी पहुंचे थे, जबकि शेष बचे अभ्यर्थियों का पक्ष शनिवार को सुना जाएगा।



Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी