Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल की पहाडियो ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर

        हिमाचल के ऊंचाई वाले क्षेत्रों ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर, छह दिनों तक मौसम खराब रहने के आसार

हिमाचल 

राज्य के किन्नौर, कुल्लू, लाहौल-स्पीति और चंबा जिलों में अभी भी बर्फबारी हो रही है। शिमला की राजधानी में भी सुबह से बादल छाए हुए हैं। तापमान में कमी से ठिठुरन बढ़ी है। हिमाचल प्रदेश की ऊंचाई वाली जगहों पर बर्फ जम गई है। राज्य के किन्नौर, कुल्लू, लाहौल-स्पीति और चंबा जिलों में अभी भी बर्फबारी हो रही है।


शिमला की राजधानी में भी सुबह से बादल छाए हुए हैं। तापमान में कमी से ठिठुरन बढ़ी है। जिला कुल्लू और लाहौल के कई इलाकों में जनजीवन अभी पटरी पर नहीं लौटा है कि मौसम ने फिर से करवट ली है। सोमवार रात से लाहौल घाटी और जिला कुल्लू के ऊंचे इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई है। 


रोहतांग दर्रा में 25 सेंटीमीटर, अटल टनल के साउथ पोर्टल में 12 सेंटीमीटर, नॉर्थ पोर्टल में 8 सेंटीमीटर, सिस्सू और केलांग में 5 से 5 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई है। लाहौल के ग्रामीण क्षेत्रों में सौ से अधिक सड़कें बंद हैं, जो जनजातीय जिले में हैं। वहीं, पिछले तीन सप्ताह से कुल्लू हाईवे-305 बसों के लिए बंद है। 


जिला प्रशासन ने पर्यटकों और आम लोगों को मौसम को देखते हुए यात्रा करने की सलाह दी है। इसके अलावा लाहौल घाटी में भी हिमस्खलन की आशंका है। आज मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने राज्य के कई हिस्सों में बारिश और बर्फबारी की उम्मीद व्यक्त की है। 28 फरवरी को भी उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में मौसम खराब रहेगा। 


29 फरवरी से राज्य में एक नया पश्चिमी विक्षोभ शुरू होने की उम्मीद है। 1 मार्च से 3 मार्च तक राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश, अंधड़ चलने और बिजली चमकने का येलो अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है। 4 मार्च को कुछ उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में मौसम खराब रह सकता है। 

Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख