Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल में बदलते मौसम की चुनौतियों का सामना

                            हिमाचल प्रदेश में मौसम फिर बिगड़ा, कई क्षेत्रों में दो दिन बारिश-बर्फबारी के आसार, जानें पूर्वानुमान

शिमला , ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश में मौसम एक बार फिर खराब हो गया है। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते राज्य के कई हिस्सों में बारिश और बर्फबारी की उम्मीद है। 6 व 7 मार्च को राज्य के मैदानी, मध्य व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश-बर्फबारी की संभावना है, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार। आज भी शिमला और आसपास का मौसम खराब है। 8 व 9 मार्च को सभी स्थानों में मौसम साफ रहने की उम्मीद है।


 10 व 11 मार्च को मध्य और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में फिर बारिश-बर्फबारी हो सकती है। उधर, पिछले दिनों हुई बर्फबारी से सैकड़ों सड़कें अभी भी बाधित हैं। लोगों की मुसीबत कम नहीं हुई है। लाहौल-स्पीति, किन्नौर और पांगी में बर्फबारी के बाद दुश्वारियां बढ़ी हैं। लाहौल घाटी में तीन दिनों तक भारी बर्फबारी से जनजीवन अभी भी प्रभावित है। एक गांव से दूसरे गांव तक पहुंचना बहुत मुश्किल है।  इस बीच, सोमवार को जोबरंग पंचायत के रापे गांव के लोगों ने बर्फ के बीच पैदल चलने के लिए खुद को बेलचा उठाया। 


ग्रामवासियों ने रापे गांव से मुख्य सड़क तक तीन किलोमीटर की पैदल यात्रा को तीन फुट बर्फ में बनाया। ध्यान दें कि लाहौल के कई शहर अभी भी बर्फ से बंद हैं। इससे विशेष रूप से स्कूल के बच्चों को कठिनाई हो रही है। विद्यार्थी परीक्षा केंद्रों तक पहुंचने के लिए बर्फ के बीच कई किमी बर्फ से गुजरते हैं। भारी बर्फबारी के पांच दिन बीत जाने के बाद भी जनजातीय जिले किन्नौर में जनजीवन अस्त-व्यस्त है। चार फुट की बर्फबारी से तिब्बत सीमा से सटे छितकुल गांव में स्कूल जाने का रास्ता बंद हो गया। ताकि बच्चों को कोई परेशानी न हो, स्कूल के शिक्षकों, पीटीए सदस्यों और गांव के युवा ने चार फुट की बर्फ में चार किलोमीटर तक स्कूल जाने का रास्ता बनाया है। 






Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख