Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

दिल्ली से कांग्रेसी भगवा चोला पहन कर सकते है वापसी

                                            कांग्रेस के बागी दिल्ली से भगवा चोला ओढ़कर लौट सकते हैं

शिमला  , ब्यूरो रिपोर्ट 

विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराए गए कांग्रेस के बागी दिल्ली से भगवा चोला ओढ़कर घर लौट सकते हैं। भाजपा और बागी विधायकों में इस पर बहस चल रही है। कांग्रेस के बागी और निर्दलीय विधायकों के राजनीतिक भविष्य के लिए जल्द ही महत्वपूर्ण निर्णय लेने के संकेत हैं। 


भाजपा ने भी इस बारे में प्रदेश में स्पष्ट चेतावनी दी है। बागियों की भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से देर रात तक मुलाकात भी संभव है। कांग्रेस के बागी और भाजपा अब जल्द ही आने वाली चुनौतियों को स्पष्ट करना चाहते हैं, सूत्रों के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को भांपते हुए। ताकि सभी को स्पष्ट संदेश मिल सके। 


इस तरह के राजनीतिक समीकरण राज्यसभा चुनाव में महत्वपूर्ण घटनाक्रम के 21 दिन बाद बनते दिख रहे हैं। अब निर्दलीय और बागी विधायक राज्य से बाहर हैं। अब वे पंचकूला और ऋषिकेश के बाद कई दिनों से दिल्ली में रह रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि सोमवार दोपहर, कांग्रेस से बगावत का झंडा बुलंद करने वाले खेसा ने भविष्य से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। 


दो दौर में हुई बैठकों में कई मुद्दों पर व्यापक चर्चा हुई और एक निष्कर्ष पर पहुंचने की कोशिश हुई। बागी खेमे में स्पीकर के फैसले के खिलाफ अदालत में दायर याचिका के मामले को अधिक समय नहीं रखने पर फौरी सहमति हुई है, सूत्र बताते हैं। मामले को वापस लेने का भी विचार हुआ, लेकिन निर्णय टाल दिया गया। अदालत के फैसले का इंतजार करने के बजाय सीधे उपचुनाव के लिए तैयार होने और लोगों को स्पष्ट संदेश देने पर जोर दिया गया। भाजपा में शामिल होने की संभावना को भी समय रहते भुनाने की जरूरत समझी गई. उपचुनाव के लिए चुनावी मैदान में उतरने से पहले। 


कांग्रेस से बाहर निकले हुए लोगों ने स्पष्ट रूप से भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है। उन्होंने निर्दलीय विधायकों को भी शामिल कर सकते हैं। साथ ही, सूत्रों का कहना है कि भाजपा हाईकमान भी हिमाचल प्रदेश के इस महत्वपूर्ण मामले में जल्द ही व्यापक कार्रवाई करने की तैयारी कर चुकी है। पार्टी में मंथन तेज हो गया है, खासकर लोकसभा व उपचुनाव में नफे-नुकसान और राज्य में भविष्य के अवसरों पर। इस बारे में पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर पहले ही संकेत दे चुके हैं। पार्टी के उपचुनाव से जुड़े बैठकों में भाजपा के नेतृत्व को इशारे में यह बताया गया है, सूत्र बताते हैं।

हाईकमान के निर्णय के अनुसार, पार्टी को एकजुट होकर काम करने का आह्वान किया जा रहा है। यही कारण है कि आज देर रात तक भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की बागियों से मुलाकात हो सकती है।  इसके बावजूद, अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। माना जा रहा है कि बागी जल्द ही भाजपा में स्थानांतरित हो जाएंगे और नए सियासी रंग-रूप में काम करेंगे।

Post a Comment

0 Comments

बिलासपुर में हादसा, खाई में गिरी कार