Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मंत्रोचारण के बीच शुरू हुई ऊना-हरिद्वार ट्रेन: यात्रा का नया मार्ग

                                                    मंत्रोचारण के दौरान ऊना-हरिद्वार ट्रेन शुरू हुई

ऊना , ब्यूरो रिपोर्ट 

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने वाणी एवं संस्कृत मंत्रोचारण के बीच रेलवे स्टेशन ऊना से हरिद्वार जाने वाली एमईएमयू ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। ट्रेन को इस दौरान डेरा बाबा रुद्रानंद से हेमानंद महाराज, अजनोली से संत रामानंद महाराज, ब्रह्महोति से उमेश आनंद महाराज, जोगीपंगा से महेशानंद महाराज और विधायक सतपाल सत्ती ने हरी झंडी दिखाई। 


संत समाज ने मंत्रोच्चारण और भजन गायन करके इस ट्रेन को बड़ी सौगात बताया। रेलवे स्टेशन ऊना पर एक जनसभा में संत समाज को तुलसी के पौधे और राम मंदिर का निर्माण देकर सम्मानित किया गया। संत समाज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव और अनुराग ठाकुर का धन्यवाद किया कि वे लोगों को ट्रेन मिली है। ऊना रेलवे स्टेशन से दोपहर 1.50 बजे ऊना-हरिद्वार ट्रेन को अनुराग ठाकुर ने हरी झंडी दिखाई और कहा कि डेरा बाबा रुद्रानंद महाराज और संत बाबा बालजी महाराज ने 21 दिन के भीतर हरिद्वार, प्रयागराज, उज्जैन और अन्य धार्मिक स्थानों के लिए ट्रेन चलाने की मांग की थी। 


आने वाले दस दिनों में प्रयागराज, उज्जैन महाकाल और अन्य स्थानों का दर्शन करने का कार्यक्रम शुरू होगा। देवभूमि महाकाल तक जुड़ जाएगी। हिमाचल प्रदेश की दूरियां अन्य राज्यों से कम हो गई हैं, क्योंकि रेलवे का विस्तार हुआ है। यह भी वाशिंग लाइन को जल्द लाने का प्रस्ताव है। इसके लिए 47.50 करोड़ रुपये खर्च होंगे। भविष्य में ट्रेनों को दौलतपुर चौक में ही धुलाया जाएगा। उनका कहना था कि ऊना से दिल्ली, मथुरा, आगरा, ग्वालियर, राजस्थान और महाराष्ट्र के कई बड़े स्टेशनों तक ट्रेनें चलती हैं।


 हेमानंद महाराज ने कहा कि यह ऊना जिला के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। संतों की नगरी ऊना है। प्रमुख लोगों में विधायक सतपाल सत्ती, पूर्व मंत्री वीरेंद्र कंवर, जिला भाजपा अध्यक्ष बलवीर चौधरी, उपायुक्त ऊना जतिन लाल, प्रो. राम कुमार और प्रदेश सचिव सुमीत शर्मा शामिल थे। ऊना रेलवे स्टेशन पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक जनसभा को संबोधित किया। 


ठीक 1:50 बजे ट्रेन को हरी झंडी देनी थी, तो मंच के पास टेंट के एक छोर पर कुछ वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता और विस्तारक ऊंची आवाज में अपनी बातों में मशगूल थे। अनुराग गुस्सा हो गया और कहा कि आप विस्तारक आए हैं, थोड़ा सुन लें, योजनाओं को विस्तार कैसे करेंगे, जब आप सुनेंगे नहीं। उसने फिर शांत हो गया।



Post a Comment

0 Comments

गेट बना नहीं लेकिन लोहे को जंग लग गया वो अलग बात