Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल के हमीरपुर में भाजपा की घर-द्वार पहुंच

            बिना दूल्हे के कांग्रेस कैसे प्रचार करे, हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर में भाजपा घर-घर पहुंच रही है

हमीरपुर, ब्यूरो रिपोर्ट 

13 मार्च को, भाजपा ने संसदीय क्षेत्र हमीरपुर में अनुराग सिंह ठाकुर को प्रत्याशी बनाया है। इतना ही नहीं, कांग्रेसियों को अभी तक अपना दूल्हा नहीं मिल पाया है, जबकि भाजपा कार्यकर्ता अनुराग के लिए प्रचार करते-करते मतदाताओं के घर पहुंच रहे हैं। 


अनुराग ठाकुर ने भाजपा की ओर से लगातार पांचवीं बार चुनाव जीता है। कांग्रेस के सियासी नेता असमंजस में हैं। भाजपा प्रत्याशी घोषित होने के 15 दिन बाद भी कांग्रेस को टिकट नहीं मिल रहा है। कांग्रेस ने हमीरपुर से कोई बड़ा नेता टिकट के लिए नहीं आवेदन किया है। 2019 के लोकसभा चुनाव में पूर्व मंत्री रामलाल ठाकुर ने टिकट के लिए अपनी इच्छा व्यक्त नहीं की है। 


ऊना, बिलासपुर और हमीरपुर से पांच नेता ने टिकट की मांग की है। कांग्रेस अध्यक्ष अभी भी अनुराग ठाकुर के सामने किसे चुनना चाहिए तय नहीं कर पा रहा है। कुल मिलाकर, भाजपा चुनाव प्रचार में पूरी तरह से सक्रिय हो गई है, जबकि कांग्रेसी कार्यकर्ता अभी भी चुनावी चेहरे की प्रतीक्षा कर रहे हैं। साथ ही, कांग्रेस के लोकसभा चुनावों और सुजानपुर, बड़सर, गगरेट और कुटलैहड़ में उपचुनावों के लिए टिकट देना भी एक चुनौतीपूर्ण काम होगा।  भाजपा में निर्दलीय शामिल होने से दोनों दलों को कठिनाई हुई है। 


आजाद विधायक आशीष शर्मा ने भाजपा में शामिल होने के बाद नवीन शर्मा, जो चुनावी दृष्टि से सक्रिय युवा भाजपा नेता है, को कठिनाई मिली है। हालाँकि, पिछले चुनावों में नरेंद्र ठाकुर ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। ऐसे में आशीष शर्मा का भाजपा से विद्रोह फिलहाल नहीं दिखता। यही नहीं, देहरा विस क्षेत्र में स्थिति कुछ विपरीत है। यहां तक कि पूर्व विधायक रमेश धवाला भी अपनी पार्टी को कमजोर मानते हैं। लेकिन होशियार सिंह ने दो बार जीत हासिल करके क्षेत्र में अपनी ताकत दिखाई है।


 हाल ही में भाजपा ने बड़सर और सुजानपुर में पिछले विधानसभा चुनावों में अपने प्रत्याशियों को नहीं उतारा है, लेकिन कांग्रेस के बागियों को टिकट मिलने पर इन क्षेत्रों में भाजपा में विद्रोह की संभावना अब दूर नहीं है। लोकसभा चुनावों में जनसंपर्क के माध्यम से संभावित प्रत्याशी उपचुनाव की तैयारी कर रहे हैं। बड़सर में पिछले चुनावों में भाजपा से अलग होकर चुनाव लड़ने वाले संजीव शर्मा ने फिर से जनसंपर्क में भाग लिया है। हाल ही में पूर्व मंत्री वीरेंद्र कंवर ने चुनाव लड़ने की घोषणा की है। यह सब देखते हुए, भाजपा को कुटलैहड़ में उपचुनाव जीतना भी मुश्किल होगा।

Post a Comment

0 Comments

चंबा जिला के सीमांत क्षेत्रों में पुलिस बलों को किया अलर्ट