Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल: बारिश-बर्फबारी के बाद आसमान में उजाला

                                    हिमाचल प्रदेश में बारिश और बर्फबारी के बाद मौसम खुला, सड़कों का पुनर्निर्माण तेजी से

शिमला, ब्यूरो रिपोर्ट 

बारिश और बर्फबारी के बाद हिमाचल प्रदेश में मौसम खुल गया है। लोगों को ठंड से राहत मिलने की उम्मीद है। आज शिमला की राजधानी सहित पूरे देश में धूप है। तापमान भी इससे बढ़ा है। वहीं, मौसम खुलने के बाद बीआरओ और एनएचएआई ने सड़कों को बहाल करने का काम शुरू किया है।  


बीआरओ ने मनाली-अटल टनल, नॉर्थ पेार्टल से केलांग, केलांग से उदयपुर और औट-बंजार-सैंज हाईवे 305 से बर्फ हटाने का काम शुरू कर दिया है। लोगों को भारी बर्फबारी से परेशानी हो रही है। जिला मुख्यालय कुल्लू, बंजार, भुंतर और मनाली से लोग जलोड़ी दर्रा से गुजरने वाले हाईवे-305 को पैदल पार कर रहे हैं, ताकि शिवरात्रि उत्सव को देख सकें। 


एनएच ने बर्फ हटाने के लिए मशीनरी लगाई है, लेकिन बर्फबारी अधिक होने से बर्फ हटाने में समय लग रहा है। एनएच के अधिशाषी अभियंता केएल सुमन ने कहा कि बर्फ हटाने का काम अभी भी जारी है। उधर, मंगलवार शाम करीब 6 बजे से चंबा-तीसा मुख्य मार्ग जसौरगढ़ मियांडू नाला के पास पहाड़ी से मलबा आने से यातायात के लिए बंद हो गया। मार्ग बंद होने से चंबा और तीसा की ओर छोटे-बड़े वाहनों की लंबी कतारें लगी रहीं। 


तीसा की ग्राम पंचायत में सनवाल, झज्जाकोठी, देहग्रा, शलेलाबाड़ी, थनेईकोठी, कुठेड़ बदौरा, हरतवास, सेईकोठी, मंगली, बौदेड़ी-जुनास-गुईला-सत्यास, शिरी, बैरागढ़, घुलेई,टेपा, देवीकोठी, गुवाड़ी-खुशनगरी, पधर, भंजराड़ू, खजुआ, जुगरा, बिहाली, तीसा-1, तीसा-2 लोक निर्माण विभाग ने मार्ग की मरम्मत की कोशिश की है। मार्ग बंद होने से चालकों को तीसा और चंबा में रात गुजारनी पड़ी। लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता जोगेंद्र शर्मा ने बताया कि इस मार्ग को बड़ी मात्रा में मलबा आने से बंद कर दिया गया है। 


मार्ग को फिर से शुरू करने के लिए टीमें लगी हुई हैं। मार्ग जल्द बहाल होगा। आज मौसम विज्ञान केंद्र ने जारी किया है कि ऊंचाई वाले कुछ स्थानों पर बारिश और बर्फबारी हो सकती है। 7 मार्च को भी मौसम खराब हो सकता है कुछ जगहों पर।  8 व 9 मार्च को राज्य में मौसम साफ रहने की उम्मीद है। जबकि 10 मार्च से 12 मार्च तक मौसम फिर से खराब हो सकता है कुछ स्थानों पर।  

कल्पा तहसील के तांगलिंग गांव निवासी 44 वर्षीय उदय सिंह को बुधवार को जिला प्रशासन और जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण किन्नौर की सहायता से चिकित्सीय आपातकाल के कारण हवाई अड्डे पर ले जाया गया। उपायुक्त किन्नौर डॉ. अमित कुमार शर्मा ने यह जानकारी दी। उपायुक्त किन्नौर ने बताया कि उदय सिंह को प्राथमिक चिकित्सा के बाद क्षेत्रीय अस्पताल रिकांगापिओ से इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज शिमला भेजा गया। राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 निगुलसरी के निकट दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण घायल व्यक्ति को तुरंत उपचार देने के लिए भारतीय वायु सेना केहेलीकॉप्टर का उपयोग किया गया।

Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख