Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

खाद्य सुरक्षा: चलती-फिरती लैब के माध्यम से जाँच एवं गुणवत्ता नियंत्रण

                                        केंद्रीय सरकार ने भेजी गई एक चलती-फिरती लैब में खाद्य पदार्थों की जांच की जाएगी

सिरमौर , ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश को खाद्य वस्तुओं के सैंपल की जांच करने वाली पहली चलती फिरती लैब मिलने वाली है, जो आधुनिक सुविधाओं से लैस है। केंद्र सरकार ने इसके लिए पहला वाहन हिमाचल भेजा है। इस वाहन में निर्मित लैब अभी शुरू नहीं हुई है। इसके लिए अभी कर्मचारी और अन्य प्रक्रियाएं पूरी की जा रही हैं। 


तब लैब में काम शुरू होगा। अब आधुनिक सुविधाओं से लैस इस वाहन के मिलने से खाद्य पदार्थों में मिलावट की शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई की उम्मीद है। सैंपल को पहले राज्य की कंडाघाट और महाराष्ट्र की लैबों में जांच के लिए संबंधित अधिकारियों की टीमों द्वारा एकत्रित किया गया था। 


अब सैंपल को इस लैब के माध्यम से कहीं भी जांचा जा सकेगा।  स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य को यह एकमात्र गाड़ी मिली है। इसे सिरमौर जिले में भेजा गया है। इस गाड़ी को सिरमौर से दूसरे जिलों में भी चलाया जा सकता है।  इस मोबाइल लैब के माध्यम से न केवल खाद्य पदार्थों की सैंपल की जांच की जाएगी, बल्कि उपभोक्ताओं को जागरूक करने पर भी काम किया जाएगा। वाहन पर खाद्य सुरक्षा, ग्राहक जागो और अन्य विवरण अंकित हैं। इससे उपभोक्ताओं को भविष्य में मिलावट के बारे में भी जागरूक किया जा सकेगा।



Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख