Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

ज्वाली विधान सभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत मैरा - शुभम हीरा के अमूल्य हीरे ने समस्त इलाका वासियों का सिर ऊंचा किया

                                 शुभम हीरा - विश्वास, शौर्य और समर्पण की कहानी

जवाली, राजेश कतनौरिया कि रिपोर्ट

ज्वाली विधान सभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत मैरा के एक अमूल्य हीरे ने समस्त इलाका वासियों का सिर ऊंचा कर दिया क्योंकि इस अमूल्य हीरे का वास्तव में नाम भी शुभम हीरा ही है । शुभम हीरा ने 2016 में नौ सेना का कमीशन प्राप्त किया था ।  


लेफ्टिनेंट कमांडर शुभम हीरा को कप्तान रविधीर मेमोरियल गोल्ड मेडल 2024के अंतर्गत बेस्ट फ्लाइट सेफ्टी अवार्ड से अलकृत किया गया । यह अवार्ड चीफ ऑफ नवल स्टाफ एडमिरल हरि कुमार द्वारा नवल वेस गोवा में एक प्रभावशाली कार्यक्रम में प्रदान किया गया । 


उक्त अवार्ड के मिलने से लेफ्टिनेंट कमांडर शुभम हीरा के परिजनों का सिर ही ऊंचा नहीं हुआ  बल्कि समस्त ज्वाली विधान सभा क्षेत्र के लोगों में खुशी की लहर की कोई सीमा न रही । बता दे कि इस परिवार की देश भक्ति की गाथा एक अद्भुत ही है । शुभम हीरा के परदादा सूबेदार किरपा राम ने  द्वितीय विश्व युद्ध में भाग लिया था और इसके दादा हरनाम सिंह ने आर्मी में कैप्टन के पद पर रहकर 1962,1965 और1971 की लड़ाइयों में अपनी देश भक्ति का जनून दिखाया । 


शुभम हीरा के ताया लखवीर सिंह जोकि 2010 में पैरा कमांडो से सेवानिवृत हुए थे लेकिन देश भक्ति की प्यास नहीं बुझी थी और अपनी देश भक्ति की भावना को लेकर 2011 में सीआरपीएफ में भर्ती हो गए । दुर्भाग्यपूर्ण 2014 में छत्तीसगढ़ में मायोवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए । शुभम हीरा के पिता दिलवर हीरा भी एयर फोर्स से रिटायर्ड होकर अब पंजाब में बतौर डायरेक्टर के पद पर विराजमान है । 


शुभम हीरा की माता विमला देवी अपने इकलौते हीरे की तरह अपने इलाके के अन्य बच्चों को हीरे बनाने के लिए एक प्राइमरी स्कूल में बतौर अध्यापिका काम कर रही है । शुभम हीरा की पत्नी पलक हीरा आर्मी में बतौर कैप्टन के पद पर आसीन है । यह परिवार देश सेवा के साथ साथ समाज सेवा से भी जुड़ा हुआ है क्योंकि शुभम हीरा के पिता दिलवर हीरा ने अपने  शहीद भाई लखवीर हीरा की याद में एक सोसायटी बनाई है और उस सोसायटी के माध्यम से समाजसेवा में पूरी लगन से अपने परिवार की भूमिका निभाई जा रही है । जोकि इलाके के लिए अति गौरव की बात है और यह परिवार इलाके के लिए प्रेरणास्त्रोत भी है । 

Post a Comment

0 Comments

आशीष बुटेल के राजनीतिक प्रहार पर प्रवीन कुमार का पलट वार जव प्रदेश में आपदा आई थी तो किशन कपूर एम्स में उपचाराधीन थे