Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

प्लम की अच्छी सेटिंग से अधिक उत्पादकता की उम्मीद

                                             प्लम की अच्छी सेटिंग से अच्छी पैदावार की उम्मीद

कुल्लू, ब्यूरो रिपोर्ट

घाटी के निचले हिस्सों में प्लम की अच्छी सेटिंग से बागवानों की आँखें चमक उठी हैं। करीब 70% पौधों पर प्लम सेटिंग दिखाई देती है। यही कारण है कि इस बार प्लम बंपर फसल होने की उम्मीद है। कृषि विभाग ने भी सभी खंडों से रिपोर्ट मांगी है। 


कुल्लू जिले में लगभग 2,500 हेक्टेयर जमीन पर प्लम मैरीपोजा, सेंटारोजा और फ्रंटियर की खेती की जाती है। इसमें सबसे ज्यादा सेंटारोजा प्लम है। नई किस्में अभी बहुत कम जगहों पर उगाई जा रही हैं। बागवान मेरीपोजा, फ्रंटियर, ब्लैक अंबर आदि वैरायटी की ओर बढ़ रहे हैं। 


घाटी के प्लम उत्पादक देवराज नेगी, प्रताप पठानिया, अनिश ठाकुर, कर्म चंद, अखिल ठाकुर, अनूप भंडारी, देवेंद्र और रितेश ने बताया कि इस बार बगीचों में प्लम की फसल अच्छी दिख रही है। उनका दावा था कि प्लम पौधों में 70% प्लम सेटिंग दिखाई देती है। 


अभी भी कई फल झड़ रहे हैं। सदर फल एवं सब्जी उत्पादक संगठन के अध्यक्ष लाल चंद ठाकुर ने कहा कि पौधों पर प्लम की सेटिंग बेहतर हुई है क्योंकि फ्लावरिंग के वक्त मौसम अनुकूल था। उसने कहा कि जिन बगीचों में पिछले वर्ष अधिक फसल थी, वहां आज कम फसल है। बागवानी विभाग के उपनिदेशक बीएम चौहान ने बताया कि प्लम की फसल बहुत अच्छी है, लेकिन अभी कई फल पीले होकर गिर जाते हैं। विभाग ने हर खंड से क्षेत्रीय कर्मचारियों से रिपोर्ट भेजी है।


Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख