Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जिला चम्बा में धुआं-धुआं हो गए जंगल, वन संपदा भी जलकर राख

                                                      चंबा के जंगलों में आग बेकाबू होती जा रही है

चम्बा,ब्यूरो रिपोर्ट 

चंबा के जंगलों में आग बेकाबू होती जा रही है। इससे वन संपदा जलकर राख हो रही है। पर्यावरण पर भी जंगल की आग का बुरा प्रभाव पड़ रहा है।चारों तरफ वातावरण में जंगलों की आग का धुआं फैल रहा है। जिले में आगजनी की सबसे ज्यादा घटनाएं वन मंडल डलहौजी के जंगलों में देखने को मिल रही हैं।

 यहां रोजाना कोई न कोई जंगल आग से दहक रहा है। इसी प्रकार से वन मंडल चंबा और चुराह के जंगलों में भी आग की घटनाएं देखने को मिल रही हैं।शहर के चारों तरफ लगने वाले जंगलों में शाम ढलते ही पहले हल्की चिंगारी सुलगती दिखाई देती है। रात का अंधेरा होते ही यह छोटी सी चिंगारी बड़ी आग का रूप धारण कर लेती है। इससे पूरा जंगल आग से लाल दिखाई देता है। डलहौजी वन मंडल के धरोटा और ओसल में जिस प्रकार से जंगल में आग भड़क रही है। उसे देख यही लग रहा है कि इस आग में न जाने कितने वन्य जीव जलकर कोयला बन गए होंगे। 

वन संपदा को होने वाले नुकसान का आकलन विभाग अभी तैयार करेगा।ऐसा नहीं है कि जंगलों में आग प्राकृतिक कारणों से लग रही है। जंगलों में रोजाना शरारती तत्व आग भड़का रहे हैं। वन विभाग एक दर्जन से अधिक जिले भर में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवा चुका है। उधर, मुख्य वन अरण्यपाल अभिलाष दामोदरन ने बताया कि जंगलों में आग की घटनाएं बढ़ रही हैं। वन विभाग के कर्मचारी आग को बुझाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। जंगलों को बचाने के लिए स्थानीय लोगों की सहभागिता भी काफी जरूरी है।





Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब