Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

नाथपा से पोवारी तक राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर गड्ढों की भरमार

                                                      हिचकोले खाते हुए मरीज पहुंच रहे अस्पताल

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

जनजातीय जिला किन्नौर में नाथपा से पोवारी तक राष्ट्रीय उच्च मार्ग पांच पर सफर करना खतरनाक बना हुआ है। एनएच पर जगह-जगह गड्ढे होने के कारण क्षेत्र के हजारों लोगों को आवाजाही करने में परेशानी झेलनी पड़ रही है। गौर हो कि नाथपा से पोवारी तक करीब 40 किलोमीटर राष्ट्रीय उच्च मार्ग की हालत दयनीय है, वहीं राष्ट्रीय उच्च प्राधिकरण बीते लंबे समय से एनएच की कोई सुध नहीं ले रहा है। ऐसे में एनएच पांच पर सफर करना खतरनाक बना हुआ है। इन दिनों प्रचंड गर्मी के चलते देश-विदेश से सैलानी चटक धूप की तपिश से बचने के लिए किन्नौर की ठंडी वादियों की ओर रुख कर रहे हैं। 

जिले के विभिन्न पर्यटक स्थल पर्यटकों से गुलजार हैं और मैदानी इलाकों में बढ़ती गर्मियों के कारण किन्नौर की हसीन वादियों को निहारने पहुंचने वाले पर्यटकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दो पहिये वाहन में सवार होकर आवाजाही करने वाले पर्यटकों को तो खस्ताहाल एनएच पर खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, मरीजों को हिचकोले खाते हुए अस्पताल पहुंचना पड़ रहा है। इसके अलावा रोजाना हजारों लोगों को खस्ताहाल एनएच पर खतरे के साये में सफर करने को मजबूर हैं। किन्नौर जिले में देशभर से पहुंचे पर्यटक प्राची, कविता, नंदिता, शीतल, प्रियंका, दीपक अग्रवाल, नवीन गुप्ता, सोनाक्षी जम्वाल, मृदुला जम्वाल, दिशा, साक्षी, सोनाक्षी, प्रियांशी, अभय गुप्ता, संपदा और संदीप अग्रवाल ने कहा कि सड़कों की हालत अच्छी होगी तो किन्नौर में पर्यटन को पंख लगेंगे। कई स्थानों पर एनएच की हालत खराब होने के कारण आवाजाही करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिला किन्नौर में बरसात से हुए भूस्खलन के कारण स्लाइड प्वॉइंट निगुलसरी, नाथपा, टापरी के समीप पागल नाला, रल्ली और लाल डांक पोवारी के पास तो एनएच पांच की हालत बद से बदतर बनी हुई है।






Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब