Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

खलवाहन में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौ#त

                                                         आंगन से एक साथ उठी तीन अर्थियां

मंडी,ब्यूरो रिपोर्ट 

क्षेत्र की ग्राम पंचायत खलवाहन में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत के बाद जब शुक्रवार को उनके अंतिम संस्कार की घड़ी आई तो आंगन से एक साथ तीन अर्थियां उठते देख परिजन बेसुध हो गए। परिजनों और रिश्तेदारों की चीख पुकार से पूरा गांव गूंज उठा।सबसे गमगीन करने का घटना यह है कि उदमी राम जिस बेटे के हाथों में मेहंदी रचाने के सपने देख रहे थे, उसी बेटे ने पिता की चिता को मुखाग्नि दी। 

इस दिल का दहला देने वाली घटना को देखकर वहां मौजूद लोगों की आंखें नम हो गईं। बता दें कि बीते वीरवार को फागुधार में नाले में कार के गिरने से खलवाहन पंचायत के प्रधान प्रधान उदमी राम, भाई तोता राम व चाचा फागणू राम की मौत हो गई थी।तीनों को शुक्रवार को गांव में अंतिम विदाई दी गई। घटना के बाद पूरे गांव में मातम छाया रहा। इसके चलते कई घरों में चूल्हे तक नहीं जले। अंतिम संस्कार के बाद भी परिजनों और रिश्तेदारों में चीख पुकार मची रही। कोई भी इस घटना पर यकीन कर पा रहा है। परिवार के कई सदस्य बेसुध पड़े हैं, जिन्हें स्थानीय लोग दिलासा दे रहे हैं। मृतकों के परिजनों को सांत्वना देने के लिए रिश्तेदारों का आना जाना लगा हुए है।

पूर्व प्रधान भूमे राम ने बताया कि उनका घर उदमी राम के घर के साथ ही और उनका परिवार की तरह रिश्ता है। परिवार के सदस्यों को मुश्किल से धीरज बंधाया जा रहा है। परिवार के सदस्यों का रो रो कर बुरा हाल है। बता दें कि ग्राम पंचायत प्रधान उदमी राम अपने बेटे की शादी के सिलसिले में शिमला जा रहे थे। उनके साथ टैक्सी में उनका भाई तोता राम व चाचा फागणू राम सवार थे, जबकि एक अन्य ने मंडी से सवार होना था। मगर घर से चंद किलोमीटर का सफर तय करने के बाद फागुधार में अनियंत्रित होकर टैक्सी नाले में जा गिरी। इससे तीनों की मौत हो गई।बताया जा रहा है कि हादसे के बाद कोई भी व्यक्ति नाले से शवों को निकालने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। मगर पूर्व प्रधान भूमे राम अपनी जान को जोखिम डालकर शवों को निकालने के लिए आगे आए। इसके बाद ही पुलिस के साथ अन्य लोगों ने भी दम भरा और नाले से शवों को बाहर निकाला।





Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब