Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हजारों बेरोजगारों को रोजगार का केंद्र बन सकती है बैजनाथ की चाय फैक्ट्री:तिलक


  • बैजनाथ 11 जुलाई,साहिल कपूर


  • हजारों बेरोजगारों को रोजगार का केंद्र बन सकती है बैजनाथ की चाय फैक्ट्री उक्त शव्द तिलक राज पूर्व जिला परिषद सदस्य एवं एनजीओ लोक सेवा मंच बैजनाथ के संयोजक ने कहे उन्होंने कहा कि बैजनाथ की चाय फैक्ट्री 40 वर्ष पहले पूर्व में रहे मंत्री माननीय स्वर्गीय पंडित संत राम जी के प्रयासों से स्थापित की गई थी उस समय इस चाय फैक्ट्री में जो मशीनरी लाई गई थी वह विदेशों से लाई गई थी और आज 40 वर्ष बीत जाने पर भी वह उसी रूप में कार्य करने के लिए सक्षम है।




 

तिलक राज ने कहा कि चाय फैक्ट्री में दो लाख किलोग्राम चाय उत्पादन करने की क्षमता है तथा इस उत्पादन को तीन गुना अधिक बढ़ाया जा सकता है आज जिस प्रकार बेरोजगारी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है उसको मध्य नजर रखते हुए और वर्तमान राज्य सरकार व केंद्र सरकार द्वारा जो योजनाएं युवा पीढ़ी को रोजगार की दृष्टि से बनाई गई है उसका पूर्ण उपयोग करके अर्थात जो धरोहर बैजनाथ चाय फैक्ट्री के रूप में हमारे पास है उसके साथ राज्य व केंद्र सरकार की योजनाओं को जोड़कर चाय का उत्पादन में बेरोजगारी को कम करने में अहम भूमिका अदा हो सकती है।



तिलक राज ने कहा कि बैजनाथ फैक्ट्री के लगभग 231 सदस्य हैं जिनके कारण लगभग पांच हजार परिवारों को रोजगार मिला हुआ है, इस रोजगार की संख्या को 3 गुणा तक बढ़ाया जा सकता है। आज लोग कोरोना महामारी के समय में 90% जो निजी कंपनियों में काम करते थे बेरोजगार हो चुके हैं



उन्हें रोजगार का कोई साधन नजर नहीं आ रहा है यदि बेरोजगार परिवारों को जो योजनाएं राज्य व केंद्र सरकार द्वारा बेरोजगारों के लिए चलाई गई है उन योजनाओं को देखकर उनसे हर्बल चाय के लिए जिन वस्तुओं का उत्पादन अपने खेतों में सरलता से हो सकता है। उन्होंने कहा कि जिसके लिये वह उसका उत्पादन करें, जिनके पास खेती नहीं है वह उनसे भूमि ले सकते हैं जो अपनी भूमि पर खेती नहीं करते हैं उनको लीज पर लेकर अपना कार्य कर सकते हैं ।
इससे किसान की भूमि उपयोग में आ सकती है साथ ही बेरोजगारों को रोजगार मिल सकता है परंतु इस सारी प्रक्रिया को धरातल पर तभी उतारा जा सकता है यदि चाय बागान के उत्पादन कर्ताओं को प्रोत्साहित एवं प्रेरित किया जाए, साथ ही बैजनाथ चाय फैक्ट्री को सुचारू करने के लिए जो भी आवश्यकताएं हैं उन्हें पूरा किया जाए ।



तिलक राज ने कहा कि बैजनाथ चाय फैक्ट्री को इस उद्देश्य से खोला गया था कि आम जनमानस को लाभ हो और बैजनाथ के चाय बागानों का नाम देश विदेश तक पहुंचे परंतु समय-समय पर सरकारें आती-जाती रही परंतु विधानसभा के शीर्ष नेतृत्व इस बैजनाथ चाय फैक्ट्री को रोजगार का केंद्र बनाया जाए इस बारे किसी भी सरकार के पक्ष अपना पक्ष नहीं रख सके जिसका नतीजा यह हुआ कि आज उक्त चाय फैक्ट्री जो हजारों बेरोजगारों को रोजगार देती थी वह आज खुद बेरोजगार पड़ी है।

तिलक राज ने मुख्यमंत्री व राजीव सैजल मंत्री सामाजिक न्याय व अधिकारिता हिमाचल प्रदेश से प्रार्थना की है कि बैजनाथ चाय फैक्ट्री को पुनः सुचारु करने के लिए कार्यवाही की जाए तथा वास्तविकता पर भी नजर डाली जाए ताकि वर्तमान सरकार के इस कार्यकाल में बैजनाथ विधानसभा के बेरोजगारों को इस बैजनाथ चाय फैक्ट्री से हजारों की संख्या में रोजगार के अवसर आपके माध्यम से प्राप्त हो सके।

Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी