Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

रजत ठाकुर का कारवां पहुंचा सकरेनी माता के द्वारत ीन पंचायतों के 30 महिला मंडलो को किया सम्मानित

धर्मपुर,संगीता मंडियाल
सहारा संस्था के प्रमुख एवम प्रदेश भाजपा सह मीडिया प्रभारी व धर्मपुर के युवा नेता युवराज रजत ठाकुर का महिला मंडलो को सम्मानित करने वाला कारवाँ रविवार को जालपा माता सकरेनी भगवती के द्वार पहुंचा। इससे पहले रजत ठाकुर ने संधोल व सयोह में महिला मंडलो को सम्मानित किया जा चुका है ।इसी कड़ी में रविवार को रजत ठाकुर ने धर्मपुर चुनाव क्षेत्र की कमलाह, बिंगा, धवाली पंचायतों के 30 महिला मंडलो को सम्मानित करते हुए प्रत्येक महिला मंडल को पांच पांच मैट्रेस प्रदान किए ताकि महिला मंडलो की बैठके करने के लिए ये मैट्रेस आसन का काम करे। 
उन्होंने सकरेनी माता के द्वार में स्थापित पंडाल में उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम सबका अपने क्षेत्र के देवी देवताओं के ऊपर आपार आस्था व स्नेह है यह वही देवी देवता है जिनका आशिर्बाद हमेशा हमारे ऊपर बना है। इन देवी देवता चाहे वो बाबा कमलाहिया जी है चाहे कंचना माता,अवाहदेवी माता हमारे पास ही चतर्भुजा माता व जनितरी भगवती शीतला माता , पांडला देव है। इन सब की कृपा हम सबके ऊपर बनी है जिसके चलते आज हमारा धर्मपुर विकाश के नए आयाम स्थापित कर रहा है ।
उन्होंने कहा कि ठाकुर महेंद्र सिंह इन्ही देवी देवताओं के आशीर्वाद से लगातार धर्मपुर से सेवा कर रहे हैं और धर्मपुर के विकास में चार चांद लगा रहे है। जिसमें हमारे धर्मपुर क्षेत्र की जनता विशेषकर मातृशक्ति का आपार स्नेह मिलता रहा है । उन्होंने  कहा कि यह वही महिला शक्ति है जिन्होंने देश व दुनियां को जब कोविड महामारी ने जकड़ कर रखा था तो महिला शक्ति ने ही अपने अपने महिला मंडलो के बैनर तले अपनी अपनी पंचायतों में लोगों को महामारी से निपटने के लिए लोगों को जागरूक करते हुए तथा मास्क व सेनिटाइजर व अन्य यंत्र बांटने में समाज में  अपना योगदान दिया है। 
उन्होंने कहा कि महिला मंडलों के समर्पण को देखते हुए सहारा संस्था  ने मातृशक्ति को सम्मानित करने का बीड़ा उठाया है ताकि हमारी मातृशक्ति का मनोबल बढ़े और वो आगे भी समाज की भलाई के कार्यों में  बढ़ चढ़ कर अपना योगदान देने के लिए तैयार रहे। इस मौके पर रजत ठाकुर ने उन लोगों को जो इस समानित करने वाले कार्य का विरोध कर रहे है या इस पर घटिया व्यान बाजी कर रहे है। उन्हें आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्होंने अपने आप तो कभी इन महिला मंडलो के बारे में कभी कोई कार्य नहीं किया मात्र वोट के तौर पर इस्तेमाल करने का प्रयास किया। जब हमारी संस्था द्वारा इन महिला मंडलो को सम्मानित किया जा रहा है तो इनसे हजम नहीं हो रहा है। अपने पांव की जमीन खिसकने के कारण ये घटिया व्यानबाजी पर उतर रहे हैं और क्षेत्र को क्षेत्रवाद के नाम पर बांटने का घटिया प्रयास कर रहे हैं जो निंदनीय है।

Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब