Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आराध्या देव सूत्रधारी ब्रह्मा की पूजा अर्चना से किसान मेला पधर आगाज

◆अतिरिक्त जिला उपायुक्त राजीव कुमार ने की बतौर मुख्य अतिथि शिरकत

◆जल शक्ति विभाग विश्राम गृह से निकली शोभा यात्रा, 27देवी देवता हुए शामिल


पधर(मंडी)। कृष्ण भोज
उपमंडल मुख्यालय पधर का पांच दिवसीय जिला स्तरीय किसान मेला शुक्रवार को धूमधाम से शुरू हुआ। मेले में अतिरिक्त जिला उपायुक्त राजीव कुमार ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस दौरान क्षेत्र के अधिष्ठाता बड़ा देव सूत्रधारी ब्रह्मा की अगुवाई में जल शक्ति विभाग विश्राम गृह डलाह से मेला स्थल तक भव्य शोभायात्रा भी निकाली गई। जिसमे 27 देवी देवताओं ने शिरकत की। उपमंडल के विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष और पंचायती राज संगठन के प्रतिनिधि भी शोभायात्रा में शामिल हुए। एडीएम राजीव कुमार ने देवी देवताओं की विधिवत पूजा अर्चना कर सुख, समृद्धि और खुशहाली की कामना की। 
उन्होंने लोगों को किसान मेला के साथ साथ हिमाचल दिवस की बधाई भी दी। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय किसान मेला हिमाचल दिवस के पावन अवसर पर मनाया जाता है। यह क्षेत्र और ग्रामीणों के लिए गर्व की बात है। 
उन्होंने कहा कि मेले और तीज त्यौहार हमारी प्राचीन संस्कृति की अनमोल धरोहर है। ग्रामीण क्षेत्रों में मनाए जाने वाले इन उत्सवों का विशेष महत्व है। देवी देवताओं के आगमन से इन उत्सवों में चार चांद लगते हैं। वही लोगों  को घर द्वार पर आशीर्वाद पाने का अवसर मिलता है। उन्होंने स्थानीय ग्रामीणों से पांच दिवसीय मेले का भरपूर लुत्फ लेने का आह्वान किया।
इस दौरान स्कूली छात्र छात्राओं सहित विभिन्न महिला मंडल द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। मुख्य अतिथि ने मेले में विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

इससे पहले मेला कमेटी अध्यक्ष एवं एसडीएम पधर संजीत सिंह ने मुख्य अतिथि को शॉल टोपी व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर अधिशासी अभियंता जल शक्ति विभाग राजेश मोंगरा, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग जितेंद्र गुप्ता, बीडीओ द्रंग राकेश पटियाल, पंचायत समिति अध्यक्षा शीला ठाकुर, जिला परिषद सदस्य रविकांत, बीडीसी सदस्य कविता चौहान, पंचायत प्रधान हेमंत कुमार, उप प्रधान गोपाल सिंह, भाजपा मंडल अध्यक्ष दलीप विष्ट, महिला मोर्चा अध्यक्षा मीना ठाकुर, व्यापार मंडल प्रधान लाभ सिंह, पेंशनर कल्याण संघ अध्यक्ष एमसी चौहान सहित अन्य गणमान्य मौजूद रहे।

... 70 वर्ष पुराना है किसान मेले का इतिहास...
पधर किसान मेले का इतिहास 70 वर्ष पुराना है। 15 अप्रैल 1951 को क्षेत्र के एक स्थानीय अध्यापक आईडी महंत द्वारा किसान मेला शुरू किया गया था। जिसके बाद स्थानीय पंचायत के सहयोग से साल दर साल मेले को नया स्वरूप मिलता गया। गत 2014 में पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने किसान मेला को जिला स्तरीय दर्जा दिलाया। तब से तीन दिवसीय मेले को पांच दिवसीय मनाना शुरू किया गया। सौभाग्य से अध्यापक आईडी महंत के पुत्र नागेश महंत स्थानीय पंचायत के प्रधान भी हैं। करीब दो दशक से स्थानीय देवी देवता मेले में शिरकत कर चार चांद लगाते हैं।


Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब