Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

टांडा में मरीजों को इलाज से पहले पर्ची बनवाने के लिए खूब करनी पड़ रही है जद्दोजहद

                                              टांडा में इलाज से पहले पर्ची के लिए जद्दोजहद

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा में मरीजों को इलाज से पहले पर्ची बनवाने के लिए खूब जद्दोजहद करनी पड़ रही है। इसके लिए उन्हें घंटों कतारों में खड़ा होना पड़ रहा है। वहीं लंबे इंतजार के बाद मरीजों को ओपीडी में इलाज करवाने का मौका मिल रहा है। इससे दूरदराज क्षेत्रों से आए मरीजों को सबसे ज्यादा दिक्कत हो रही है।

जानकारी के अनुसार टांडा अस्पताल में रोजाना 3,000 से अधिक ओपीडी दर्ज की जा रही है। अपनी जांच करवाने वाले मरीज लंबी लाइनें लगाकर सुबह ही अपनी बारी का इंतजार करना शुरू कर देते हैं। लंबी जद्दोजहद के बाद मरीजों को अस्पताल में पर्ची बनवाने का मौका मिल रहा है। ऐसे में दूरदराज क्षेत्रों से यहां आने वाले मरीजों का पूरा दिन ही अस्पताल में ही खत्म हो जाता है।जमानाबाद के कोटकबाला निवासी 84 वर्षीय रामलाल ने बताया कि वह अपने कूल्हे की जांच के लिए अस्पताल पहुंचे हैं। 

यहां पर्ची काउंटर पर लगी भीड़ से उन्हें काफी इंतजार करना पड़ रहा है। अस्पताल प्रशासन को मरीजों की संख्या में इजाफा होते देख पर्ची काउंटर की संख्या में भी इजाफा करना चाहिए।डाडासीबा से अस्पताल अपनी माता की जांच करवाने आईं शकुंतला देवी ने बताया कि वह एक घंटे से लाइन में लगी हैं। पर्ची बनवाने का इंतजार करते-करते अब शरीर थक गया है। ऐसे में अब बैठकर ही अपनी बारी का इंतजार किया जा रहा है।अस्पताल में रोजाना 3,000 से अधिक मरीज दर्ज किए जा रहे हैं। ऐसे में लंबी लाइनों का लगना स्वभाविक है। अस्पताल की ओर से अपने स्तर पर पर्ची काउंटर पर बेहतर सेवाएं दी जा रही हैं। अस्पताल प्रबंधन का प्रयास रहेगा कि सेवाओं को और बेहतरीन किया जाए।




Post a Comment

0 Comments

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे प्रदेश भर में तीन चुनावी रैलियां