Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जिला काँगड़ा के धर्मशाला जोनल अस्पताल में बिना चीरे के होंगे आंखों के ऑपरेशन

                     धर्मशाला अस्पताल प्रशासन को प्रदेश स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक पत्र प्राप्त हुआ है

धर्मशाला,रिपोर्ट नेहा धीमान 

जोनल अस्पताल धर्मशाला में लेजर मशीन (फेको) के माध्यम से आंखों के रोगों से पीड़ित मरीजों के ऑपरेशन को लेकर आस बंधने लगी है। जानकारी के अनुसार लंबे समय से धर्मशाला अस्पताल में फेको मशीन की सुविधा शुरू करने के लिए अस्पताल प्रशासन और प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के साथ चर्चा चल रही है। अब इसको लेकर धर्मशाला अस्पताल प्रशासन को प्रदेश स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक पत्र प्राप्त हुआ है। इस पत्र के तहत धर्मशाला में फेको मशीन लगाने को लेकर शिमला से ही एक कमेटी का गठन किया जाएगा। 

यह कमेटी फेको मशीन की खरीद करेगी जिसे धर्मशाला में स्थापित किया जाएगा। इस मशीन के धर्मशाला अस्पताल में स्थापित होने के बाद नेत्र रोग के मरीजों को सरकारी अस्पताल में ही फेको मशीन से ऑपरेशन की सुविधा मिलेगी।अब तक टांडा अस्पताल और कांगड़ा के निजी अस्पतालों में ही फेको मशीन से मोतियाबिंद के ऑपरेशन की सुविधा मिलती थी, लेकिन यदि धर्मशाला अस्पताल में भी यह सुविधा शुरू हो जाती है तो मरीजों को काफी हद तक राहत मिलेगी।

फेको मशीन आंखों के मोतियाबिंद उपचार के लिए एक अत्याधुनिक तकनीक है। इस विधि के दौरान आंख में महज 2.8 एमएम का एक बारीक छेद किया जाता है। इसके माध्यम से आंखों के सफेद मोतिया को आंखों के अंदर ही घोल दिया जाता है और इसी के माध्यम से ही फोल्डेबल लैंस को आंख के अंदर प्रत्यारोपित कर दिया जाता है। किसी तरह का टीक नहीं लगाया जाता है। इसके अलावा एक हफ्ते में रिकवरी हो जाती है।धर्मशाला अस्पताल में फेको मशीन लगाने को लेकर शिमला से ही कमेटी का गठन किया जाएगा। यह कमेटी ही मशीन की खरीद करेगी। इसको लेकर अस्पताल प्रशासन को पत्र मिला है। अगर यह मशीन अस्पताल में जल्द स्थापित होती है तो इससे नेत्र रोग के मरीजों को काफी लाभ मिलेगा।





Post a Comment

0 Comments

हिडिंबा माता मंदिर में  उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने बेटी के साथ नवाया शीश