Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

ऊना डिपो ने रविवार को अचानक करीब 15 रुटों पर बसों को संचालन रद्द कर दिया

                                               एचआरटीसी ने चंडीगढ़ के लिए भेजीं चार विशेष बसें

ऊना,ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) के ऊना डिपो ने रविवार को अचानक करीब 15 रुटों पर बसों को संचालन रद्द कर दिया और चार विशेष बसें चंडीगढ़ के लिए रवाना कर दीं। बताया जा रहा है कि जिन रूटों को बंद किया गया उनमें सवारियां ही नहीं थी। वहीं, चंडीगढ़ जाने वालों की उमड़ी भीड़ को देखते हुए चार विशेष बसें चंडीगढ़ के लिए भेजी दीं।

जानकारी के अनुसार रविवार को आईएसबीटी ऊना पर एकाएक सवारियों की भीड़ उमड़ पाड़ी। इस कारण कुछ देर के लिए काउंटर पर टिकट के लिए मारामारी शुरू हो गई। काउंटर पर मौजूद परिचालकों को भी टिकट आवंटन के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। यात्रियों की सुविधा के लिए रूटीन की बसों के अलावा चंडीगढ़ के लिए चार अतिरिक्त बसों का संचालन करना पड़ा। इससे बस अड्डा में मौजूद यात्रियों ने राहत की सांस ली।

एचआरटीसी कर्मियों की मानें तो ऊना से चंडीगढ़ के लिए एकाएक रविवार को कामकाजी एवं व्यवसायी काम पर लौटें हैं, जबकि अन्य डिपो की चंडीगढ़ रूट की बसें सवारियों से खचाखच भरी हुई आ रही थीं। इस कारण ऊना बस अड्डे पर इंतजार कर रहे यात्रियों को उन बसों में सीट नहीं मिल पाई। इस कारण ऊना डिपो प्रबंधन को यात्रियों की सुविधा के लिए दोपहर बाद 01:45, 02:15, 03 बजे और 3:30 बसें चार अतिरिक्त बसें भेजनी पड़ीं।

आईटीबीसी ऊना से रविवार को जहां चंडीगढ़ के लिए चार अतिरिक्त बसें चलानी पड़ी तो वहीं लोकल रूट पर सवारियों की आमद न के बराबर रही। इसके कारण जिले के भीतर और बाहर के 15 रूटों पर बसें नहीं गईं। रविवार को तड़के 04:40 बजे पंडोगा-चंडीगढ़, 08:20 बजे ऊना-बद्दी, 09:10 बजे ऊना-होशियारपुर, 9:50 बजे ऊना-नवांशहर, 2:40 बजे ऊना-तलवाड़ा रूट पर सवारियां न होने पर बसें का संचालन बंद रखा गया। इसके अलावा ऊना-धमांदरी, संतोषगढ़-सासन-ऊना, ऊना-हलेड़, ऊना-सतोषगढ़-नंगल, ऊना दौलतपुर, ऊना-भाखड़ा-नंगल, ऊना-झंबर, ऊना पंजावर, ऊना-लमलैहड़ी, ऊना-बनगढ़ आदि रूटों पर सुबह-शाम बचें नहीं चलीं।सवारियों की एकाएक भीड़ उमड़ने के चलते चंडीगढ़ के लिए चार अतिरिक्त रूट चलाए गए हैं। जबकि लोकल एवं कुछ लंबी दूरी के रूट सवारियां न होने के चलते रद्द करने पड़े।


Post a Comment

0 Comments

सतलुज दरिया के तेज बहाव में एक बच्ची हुई दुर्घटना की शिकार