Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

सुक्खू सरकार की आर्थिक उत्थान: 22 नई शाखाएं और योजनाएं का उद्घाटन

                                        सीएम सुक्खू ने 22 नई शाखाओं और दो योजनाओं का उद्घाटन किया।

शिमला, ब्यूरो रिपोर्ट 

बुधवार को मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक की 22 नई शाखाओं का उद्घाटन किया। उन्होंने बैंक की दो नई योजनाओं, उच्च घनत्व सेब बागान विकसित करने के लिए ऋण योजना और एकमुश्त समाधान योजना का भी उद्घाटन किया।  उन्होंने आईबीपीएस के माध्यम से बैंक की ओर से 232 लिपिक पदों की भर्ती के लिए ऑनलाइन लिंक भी शुरू किए। 


समरकोट, झड़ग/नकराड़ी, पराला, धमांदरी, मेहंदली, जरोल, जनेहड़घाट, अप्पर कैथू, खटनोल, निहरी, चाय का डोरा, स्यांज, भराड़ी, मंडप, धार-टटोह, लोहाट, अवाह, छतराडी, हलाह, हरिपुरधार, टिम्बी और चांगो हैं नई शाखाएं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि एकमुश्त समाधान योजना के तहत बैंक के डिफाल्टर ऋणधारक जो किसी भी कारण से अपने देय ऋण को समय पर नहीं चुका पाए हैं और जिनके ऋण खाते 31 दिसंबर, 2023 को बैंक द्वारा एनपीए की डी श्रेणी में दर्ज किए गए हैं, वे बैंक के साथ एकमुश्त समझौता कर निपटान के पात्र होंगे। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि उच्च घनत्व के सेब बागीचे विकसित करने के लिए ऋण योजना के तहत राज्य के बागवानों को प्रति बीघा आठ लाख रुपये की तुक की ऋण सुविधा दी जाएगी, जिससे नई किस्मों की पैदावार और नई तकनीक का प्रोत्साहन मिलेगा। इस योजना के तहत ऋण धारक को 50 लाख रुपये से अधिक का ऋण नहीं दिया जाएगा।  सुक्खू ने कहा कि हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक ने राज्य को विकसित करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। 


उन्हें बताया गया कि बैंक की सपनों की शक्तिशाली महिला ऋण योजना और संचय-डिपॉजिट लिंक्कड़ बचत जमा योजना ने सकारात्मक प्रभाव डाला है। अब तक, सशक्त महिला ऋण योजना के तहत 16,836 महिला ऋणियों को 35 करोड़ रुपये से अधिक का ऋण दिया गया है। बैंक के अध्यक्ष देविंद्र श्याम ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि नई शाखाओं के खुलने से समाज के हर वर्ग को बैंकिंग सेवाएं घर पर मिल जाएंगी। 


उन्होंने कहा कि दोषी ऋण धारकों को एकमुश्त समाधान योजना से अपने वित्तीय पोर्टफोलियो को सुधारने का अवसर मिलेगा। ऋणी को एक बार में भुगतान करने पर 0.5 प्रतिशत ब्याज छूट मिलेगी। बैंक के प्रबंध निदेशक श्रवण मांटा ने बैंक की कार्यप्रणाली बताई। राजस्व मंत्री जगत सिंह नेगी, मुख्य संसदीय सचिव मोहन लाल ब्राक्टा, विधायक हरीश जनारथा, मलेन्द्र राजन और नीरज नैय्यर, उपायुक्त अनुपम कश्यप, पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार गांधी, निदेशक सूचना एवं जन सम्पर्क राजीव कुमार और बैंक के वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments

चंबा जिला के सीमांत क्षेत्रों में पुलिस बलों को किया अलर्ट