Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

बीती रात हुए अंधड़ से घरों की छतें उड़ीं

                                                 जगह-जगह गिरे पेड़, गेहूं की फसल खेतों में बिछी

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

मौसम विभाग के ऑरेंज अलर्ट के बीच हिमाचल प्रदेश के कई जिलों में अंधड़ ने तबाही मचाई है। राज्य के उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में ताजा बर्फबारी हुई है। अन्य भागों में बारिश के साथ अंधड़ चलने से काफी नुकसान हुआ है। बीती रात अंधड़ से जगह-जगह पेड़ गिर गए हैं। कई घरों की छतें उड़ गईं। वहीं कई जिलों में गेहूं की फसल खेतों में बिछ गई है। 

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ओर से आज भी प्रदेश के कई भागों में बारिश-बर्फबारी, अंधड़ का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश की राजधानी शिमला में झमाझम बारिश दर्ज की गई है। वहीं अंधड़ से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। शनिवार सुबह टूटु विकासखंड की शकराह पंचायत के शैहच गांव में अंधड़ से एक रिहायशी मकान की छत उड़ गई। मकान उपेंद्र सिंह चंदेल का है। अंधड़ के दौरान पूरा परिवार घर में सो रहा था। तूफान इतना तेज था कि छत की चादरों को लकड़ी के साथ घर से कुछ दूर तक ले गया। गांव में एक गोशाला की छत, एक अस्थायी शेड भी उखड़ गया है।कांगड़ा जिले में देर रात से तेज हवाएं चलीं। अंधड़ के कारण जगह-जगह पेड़ जड़ से उखड़ गए हैं। कई जगह होर्डिंग्स आदि भी उखड़ गए।  नगर निगम के वार्ड नंबर 17 खनियारा में बिजली की तारों पर पेड़ गिरने से करीब तीन घंटे बिजली बाधित रही। यहां इंद्रुनाग  मंदिर के तहत छिंज मेले के दौरान कुछ दुकानों के टेंट उखड़ गए। पंचरुखी और खैरा में भी आम के पेड़ उखड़ गए हैं।हमीरपुर में शुक्रवार रात को आए अंधड़ के कारण काफी नुकसान हुआ है। बिझड़ी के पवन कुमार ने रात को अपनी गाड़ी खड़ी कर रखी थी। लेकिन आम के पेड़ के साथ दीवार भी गाड़ी पर गिर गई। इस वजह से गाड़ी का काफी नुकसान हुआ है। पवन कुमार पूर्व सैनिक है तथा कसबाड गांव से संबंधित हैं।

कुल्लू में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। बारिश के चलते कुल्लू-मनाली हाईवे कई जगहों पर तालाब बन गया। जिला मुख्यालय की एमडीआर सड़क कुल्लू-भुंतर भी लबालब हो गई। नालियों की उचित निकासी न होने से यह दिक्कत पेश आई है। वहीं, नगर परिषद कुल्लू के वार्ड गांधीनगर से लेकर रामशिला तक सड़कों और गलियों में बारिश का पानी जमा हो गया। राहगीरों को आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। सड़कें तालाब की तरह नजर आईं और रास्तें भी पानी से भर गए हैं। जरूरी काम के लिए घरों से निकले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पानी से राहगीरों को दिक्कतें पेश आ रहीं हैं। सड़कें और गलियां हर कहीं लबालब हो गईं। ऊना के उपमंडल बंगाणा क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर शुक्रवार देर रात व शनिवार सुबह अंधड़ से विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। साथ ही  गेहूं की फसल को भी भारी नुकसान हुआ है। अंधड़ से गेहूं की फसल खेतों में बिछ गई है। इससे किसानों के चेहरों पर निराशा है। 



Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी