Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आज वर्षा और बर्फबारी का रेड अलर्ट

                        आज कुल्लू में बारिश-बर्फबारी का रेड अलर्ट, स्कूल नहीं खुलेंगे; 241 सड़कें, चार नेशनल हाईवे समेत, बंद हैं
शिमला, ब्यूरो रिपोर्ट

शनिवार को मौसम विज्ञान केंद्र ने भारी बारिश और बर्फबारी का रेड अलर्ट जारी किया है। इसलिए कुल्लू के शिक्षण संस्थान दो मार्च को बंद रहेंगे, लेकिन वार्षिक परीक्षाएं जारी रहेंगी। ऑरेंज अलर्ट के बीच हिमाचल प्रदेश का मौसम बदल गया है। शुक्रवार सुबह से प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है, जबकि मैदानी और निचले क्षेत्रों में बारिश हो रही है। इससे क्षेत्र में ठंड भी बढ़ी है। 


प्रदेश में बारिश और बर्फबारी से चार नेशनल हाईवे सहित 241 से अधिक सड़कें यातायात के लिए बंद हो गई हैं। लोगों की परेशानियां इससे बढ़ी हैं। कांगड़ा, शिमला, सोलन, चंबा समेत कई स्थानों में बारिश हुई है, लेकिन रोहतांग, लाहौल-स्पीति, अटल टनल के आसपास, चंबा के पांगी-भरमौर और किन्नौर में बर्फबारी हुई है। शनिवार को भी मौसम विज्ञान केंद्र ने भारी बारिश और बर्फबारी का रेड अलर्ट जारी किया है। इसलिए कुल्लू के शिक्षण संस्थान दो मार्च को बंद रहेंगे, लेकिन वार्षिक परीक्षाएं जारी रहेंगी। 


सुबह से, जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति और जिला कुल्लू के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। रोहतांग दर्रा में 30 सेंमी बर्फबारी हुई है, अटल टनल के साउथ पोर्टल में 20 सेंमी, नोर्थ पोर्टल में 15 सेंमी, सिस्सू के गोंपाथंग में 10 सेंमी, कोकसर में 12 सेंमी, केलांग में 10 सेंमी, सोलंगनाला में 10 सेंमी और जलोड़ी दर्रा में 15 सेंमी। बर्फबारी के कारण अटल टनल रोहतांग और नेशनल हाईवे-305 यातायात के लिए बंद है। रोड 505 ग्रांफू-लोसर, जलोड़ी जोत भी बड़े वाहनों के लिए बंद है। चंद्रा घाटी के सिस्सू और कोकसर क्षेत्र में भी सुबह से बर्फ है और तेज हवाएं चल रही हैं।


जिला चंबा के जनजातीय क्षेत्र भरमौर में 20.32 सेंटीमीटर और पांगी की ऊपरी चोटियों में 12.7 सेंटीमीटर हिमपात हुआ है। पांगी की राजधानी किलाड़ में पांच सेंटीमीटर तक बर्फबारी हुई है।  चंबा जिले के निचले भागों में दिन भर बारिश हुई। जिले के 165 गांवों में ट्रांसफार्मरों में आई खराबी के कारण विद्युत आपूर्ति ठप हो गई है। अब तक पांगी के छह मार्ग यातायात के लिए खुले नहीं हैं। ऐसे में विद्यार्थियों ने शुक्रवार को पांगी में बर्फबारी के बीच परीक्षा दी। उधर, सुबह से किन्नौर जिले में बर्फबारी हो रही है। इससे क्षेत्र में शीतलहर बढ़ी है। सुबह से लगातार बर्फबारी से जिले में 17 सेंटीमीटर तक बर्फबारी हुई है, जिससे कई ग्रामीण क्षेत्रों में बसों की आवाजाही ठप हो गई, जिससे लोग पैदल घरों में पहुंचे। बारिश-बर्फबारी फसलों (जैसे गेहूं, मटर, सेब) के लिए फायदेमंद होगी।

Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी