Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

भूस्खलन की वजह से कुल्लू-मनाली वामतट बंद

                                हजारों विद्यार्थियों ने भूस्खलन के कारण कुल्लू-मनाली वामतट को छोड़ दिया और परीक्षा देने पहुंचे; जनजीवन पर असर

कुल्लू, ब्यूरो रिपोर्ट

भूस्खलन ने कुल्लू-मनाली वामतट को छरूडू के पास रोक दिया है। वहीं, भारी बारिश के बीच हजारों विद्यार्थी परीक्षा देने पहुंचे। बारिश ने स्थानीय जीवन को प्रभावित किया है। बारिश ने जिला कुल्लू और लाहौल में जनजीवन को प्रभावित किया है। जिला कुल्लू में बारिश लगातार दो दिनों तक जारी है। 


खासकर रात में भारी बारिश ने सरवरी खड्ड में ब्यास नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ा दिया है। भूस्खलन के कारण छरूडू में कुल्लू-मनाली वामतट बंद हो गया है। विभिन्न स्थानों पर भूस्खलन हुआ है।बर्फबारी और बारिश से जिले के कई सड़कों और कई क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति ठप हो गई है। शनिवार को भारी बारिश के बीच हजारों विद्यार्थी अपनी परीक्षा देने पहुंचे। 


मुख्यालय कुल्लू के सरवरी में स्थित अंतरराज्यीय बस अड्डा के साथ लगते हनुमानी बाग और खोरीरोपा में सरवरी खड्ड का पानी पार्किंग स्थलों और फुब्टपाथों पर बह रहा है। निजी स्कूल बस सहित दस से पंद्रह छोटे-बड़े वाहन पार्किंग में फंस गए हैं। वहीं, हनुमानी बाग जाने वाले दो पैदल रास्ते और खोरीरोपा होकर ढालपुर जाने वाले दोनों मार्ग भी बंद हो गए हैं। ढालपुर जाने वालों को कुल्लू बस अड्डा से वाया लोअर ढालपुर जाना होगा। रामशिला से कुल्लू की ओर जाने वाली रोड पर भी बारिश से पानी भर गया है। आधा किलोमीटर की सड़क एक तालाब बन गई है। यहां से वर्षों पुराना मलबा भी नहीं हटाया गया है।







Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख