Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

बर्फबारी और बारिश: कुल्लू-लाहौल में बढ़ती परेशानियाँ

                        कुल्लू-लाहौल में बर्फबारी और बारिश से बढ़ी समस्या, गेहूं की फसल को भारी नुकसान

कुल्लू , ब्यूरो रिपोर्ट

हिमाचल प्रदेश में मौसम बदल गया है। बहुत से जिले बारिश कर रहे हैं। जबकि कई जगह बर्फबारी हो रही है। जो जनजीवन को प्रभावित करता है। राज्य के निचले हिस्सों में बारिश हो रही है और ऊंचाई वाले हिस्सों में भारी बर्फबारी हो रही है। 


ऊना जिले में बारिश और तेज हवा ने गेहूं की फसल को बहुत नुकसान पहुँचाया है। चंद घंटों में मैदानी क्षेत्रों में लहलहाती गेहूं की फसल बर्बाद हो गई। राहत के साथ बारिश का इंतजार कर रहे किसानों को बहुत नुकसान हुआ है। जिले में मौसम खराब होने से किसान चिंतित हैं और मौसम में बदलाव के चलते सर्दी भी लौटी है। 


उधर, बारिश और बर्फबारी से कुल्लू जिले के लाहौल-स्पीति और कुल्लू में जनजीवन प्रभावित हुआ है। अटल टनल में बर्फबारी से लाहौल कुल्लू से अलग हो गया है। अब तक, अटल टनल रोहतांग के साउथ पोर्टल में 120 सेंटीमीटर, नॉर्थ पोर्टल में 60 सेंटीमीटर, केलांग में 75 सेंटीमीटर, सिस्सू में 60 सेंटीमीटर और सोलंगनाला में 60 सेंटीमीटर की ताजा बर्फ गिरी है।


 पिछले तीन दिनों से कुल्लू में लगातार बारिश हो रही है। निरंतर बारिश ने सब कुछ बर्बाद कर दिया है। 15 बसें हिमाचल पथ परिवहन निगम के ग्रामीण रूटों पर फंस गई हैं। इससे ग्रामीणों की समस्याएं बढ़ी हैं। आवश्यक काम करने के लिए उन्हें पैदल चलना पड़ता है। वहीं, दो राष्ट्रीय राजमार्गों सहित कुल्लू और लाहौल में 150 सड़कें और 28 बिजली ट्रांसफार्मर अभी भी बंद हैं। बर्फबारी से किन्नौर की जनता व्यस्त है। शहरों में बसों की आवाजाही ठप हो गई है। शनिवार से अधिकांश गांवों में बिजली नहीं मिलेगी। कल्पा, छितकूल और रक्षम में चार फीट बर्फबारी हुई है।



Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी