Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

चामुंडा से भाखड़ा तक, 250 करोड़ में विकसित होगा दर्शन मार्ग

       250 करोड़ रुपये से चामुंडा से भाखड़ा तक देवीदर्शन रूट का विकास, लोगों को ये लाभ मिलेंगे

शिमला , ब्यूरो रिपोर्ट 

अब देवी दर्शन रूट परियोजना श्री नयना देवी जी शक्तिपीठ और भाखड़ा पर्यटन स्थल से सीधे जुड़ जाएगी। कांगड़ा में चामुंडा देवी से भाखड़ा तक लगभग 70 किलोमीटर की मार्ग विस्तारीकरण पर लगभग 250 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। 


परियोजना का विस्तार करने से कांगड़ा और हमीरपुर के लोगों को वाया ऊना सफर से छुटकारा मिलेगा। वहीं, इन जिलों के किसानों और बागवानों भी इससे फायदा उठाएंगे। प्रदेश सरकार ने चुनाव आचार संहिता से पहले ट्रांस टू में देवी दर्शन रूट को मंजूरी दी थी. अब हिमाचल प्रदेश सड़क एवं अन्य अवसंरचना विकास निगम इसकी डीपीआर पर काम करने लगा है। 


डीपीआर विश्व बैंक के मानकों को पूरा करेगा। यह काम विश्व बैंक के सहयोग से ही शुरू होगा। निगम ने श्री नयना देवी जी परियोजना को कोलां वाला टोबा से देवी दर्शन रूट में बदल दिया। श्री नयना देवी जी शक्तिपीठ को अब भाखड़ा तक ले जाने की योजना है, जो देवी दर्शन रूट से जुड़ जाएगा। 


विशेष बात यह है कि चामुंडा से बागछाल पुल से मार्ग को बृजेश्वरी देवी, ज्वाला जी, नादौन, धनेटा, बड़सर और शाहतलाई से सीधा जोड़ता है। किरतपुर-नेरचौक फोरलेन भी इसे जोड़ेगा। परियोजना बनने से कांगड़ा और हमीरपुर से श्री नयना देवी जी आने वाले लोगों को वाया ऊना होकर नहीं आना पड़ेगा। श्री नयना देवी और भाखड़ा आसानी से देवी दर्शन रूट से पहुंच सकेंगे। 


रूट पर्यटकों, किसानों और श्रद्धालुओं के लिए बेहतर होगा। हमीरपुर और कांगड़ा के किसान आसानी से किरतपुर-नेरचौक फोरलेन तक अपने उत्पादों को पहुंचा सकेंगे, जबकि भाखड़ा डैम तक जाने वाले पर्यटकों का रास्ता भी आसानी से होगा। अब तक वे एकमात्र सड़क से भाखड़ा तक जाते हैं। 

हिमाचल प्रदेश सड़क एवं अन्य अवसंरचना विकास निगम के चीफ इंजीनियर पवन शर्मा ने बताया कि देवी दर्शन परियोजना से कांगड़ा के चामुंडा देवी से श्री नयना देवी, भाखड़ा तक का रूट जोड़ा जाएगा। इसे राज्य सरकार ने मंजूर किया है। परियोजना विश्व बैंक के सहयोग से शुरू होगी। इसके लिए डीपीआर प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments

आशीष बुटेल के राजनीतिक प्रहार पर प्रवीन कुमार का पलट वार जव प्रदेश में आपदा आई थी तो किशन कपूर एम्स में उपचाराधीन थे