Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

पिछले दो दिनों से चोटियों पर बर्फबारी,काफी रास्तो में आवाजाही बंद

                                                   रोहतांग में रिकॉर्ड हिमपात; आज  राहत की आस

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश में पिछले दो दिनों से चोटियों पर बर्फबारी, निचले क्षेत्रों में बारिश का दौर जारी है। वहीं, लाहौल में रविवार को बर्फबारी के बाद दो जगह हिमखंड गिरे हैं। दोपहर को अटल टनल रोहतांग के नाॅर्थ पोर्टल से आगे कुठ बिहाल के वाम तट पर हिमखंड गिरा, जबकि दूसरा हिमखंड तांदी-केलांग मार्ग पर तांदी जीरो प्वाइंट से 300 मीटर आगे वामतट की पहाड़ी से भागा नदी में गिरा। 

इससे भागा नदी का प्रवाह कुछ समय के लिए रुक गया। हिमखंड गिरने के कारण किसी तरह से नुकसान की सूचना नहीं है। उपायुक्त लाहौल-स्पीति राहुल कुमार ने कहा कि लोग बर्फबारी के बीच हिमखंड गिरने वाले क्षेत्रों का रुख न करें।रोहतांग दर्रा में मार्च के अंतिम दो दिनों में 90 सेंटीमीटर बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है। रविवार को कुल्लू, किन्नौर और लाहौल-स्पीति जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में रुक-रुककर बर्फबारी होती रही। प्रदेश में दो नेशनल हाईवे समेत 274 सड़कें अभी भी बंद हैं। मनाली-केलांग मार्ग फोर बाई फोर वाहनों के लिए खोल दिया है, जबकि बड़े वाहनों के लिए अभी बंद है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पॉल के अनुसार सोमवार और मंगलवार को मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है। 

3 से 6 अप्रैल तक प्रदेश में बारिश-बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी हुआ है। कई स्थानों पर अंधड़ और बिजली गिरने के आसार हैं। दो दिन में बारालाचा, कुंजम पास और घेपन पीक में भी 90 सेंटीमीटर तक बर्फ गिरी है। शिंकुला दर्रा में 75, अटल टनल के साउथ पोर्टल में 52, कोकसर में 50, सिस्सू में 45, दारचा में 40, केलांग में 15 सेंटीमीटर हिमपात हुआ है।लाहौल में 185 ट्रांसफार्मर और 103 सड़कें बंद हैं। जिला चंबा में रविवार सुबह बारिश हुई। इसके चलते भरमौर-पठानकोट नेशनल हाईवे आधा घंटा और चंबा-तीसा मार्ग घंटों बंद रहा। सोलन शहर में भी बारिश हुई। दोपहर बाद शिमला में अचानक मौसम ने करवट बदली और जमकर ओलावृष्टि हुई। इस दौरान बीच-बीच में तेज हवाओं के साथ हल्की बूंदाबांदी भी हुई।



Post a Comment

0 Comments

दोनों तरफ की नालियों का पानी आरसीसी पाइप से सीर खड्ड तक पहुंचेगा