Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

तीन तेंदुओं की जहर खाने से हुई थी मौत रामपुर के डंसा में

 फोरेंसिक जांच रिपोर्ट में सामने आया कि रामपुर के डंसा में तीन तेंदुओं की जहर खाने से मौत हुई थी

शिमला , ब्यूरो रिपोर्ट


शिमला जिले के रामपुर उपमंडल की डंसा पंचायत में आठ मार्च को तीन तेंदुओं की संदिग्ध हालात में मौत की फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट आई है, जिसके अनुसार उनकी मौत जहर खाने से हुई है। वन विभाग ने भी अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ थाना रामपुर में मामला दर्ज करवाया है।


पुलिस अनुसंधान कर रही है। वन विभाग ने आठ मार्च को रामपुर उपमंडल की डंसा पंचायत में तीन तेंदुओं के मृत शव बरामद किए। तीन तेंदुए शिखरधार में मृत पाए गए, जबकि एक जगूणी था। वन विभाग ने सभी को पशुपालन विभाग रामपुर में पोस्टमार्टम के लिए भेजा। एफएसएल जुन्गा ने मंगलवार को रिपोर्ट दी है कि वे कीटनाशक के सेवन से मर गए हैं। 


समाचार मिलने के बाद, वन विभाग के रेंज ऑफिसर ने बुधवार को रामपुर पुलिस थाना में एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। भारतीय दंड संहिता की धारा 429 के तहत वन विभाग की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। भारतीय दंड संहिता की धारा 429 जीवों की सुरक्षा से संबंधित है। इसके तहत किसी जीव की हत्या करना या उसे विकलांग बनाना सख्त कार्रवाई का प्रावधान है। 


रामपुर वन विभाग के डीएफओ हरदेव नेगी ने बताया कि एक फॉरेंसिक रिपोर्ट आई है, जिसमें तेंदुओं की मौत जहर खाने से हुई है। वन विभाग की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया है, डीएसपी रामपुर नरेश शर्मा ने बताया। डंसा पंचायत के जगूणी गांव में घायल तेंदुआ एक घर से कुछ दूरी पर मिला। लछमी नंद ने वन विभाग के चौकीदार को इसकी सूचना दी। वन विभाग की बचाव टीम मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक तेंदुए मर चुका था। दो अन्य तेंदुओं के शव भी इससे 100 मीटर दूर बरामद हुए। वन विभाग की टीम ने सभी तेंदुओं को उठाया और रामपुर के पशुपालन विभाग में पोस्टमार्टम के लिए भेजा। तीनों मर चुके तेंदुओं का दाह संस्कार किया गया। 



Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख