Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

टांडा में मुफ्त स्टेंट और पेसमेकर नहीं हैं

                                टांडा में भटक रहे मरीजों को मुफ्त स्टेंट और पेसमेकर नहीं मिल रहे 

कांगड़ा, ब्यूरो रिपोर्ट 

आयुष्मान और हिमकेयर कार्ड धारकों को राज्य के दूसरे सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज टांडा में स्टेंट और पेसमेकर नहीं मिल रहे हैं। मरीज इससे परेशान हैं। हिमकेयर और आयुष्मान कार्ड धारकों को स्टेंट और पेसमेकर मुफ्त मिलते थे। 


हालाँकि, टांडा में स्टॉक की कमी के कारण अब यह स्टेंट और पेसमेकर फ्री में डलना बंद हो गया है। इसलिए लोगों को अपने पैसे से इलाज कराना पड़ रहा है। इससे गरीब मरीजों को बहुत मुश्किल हो रही है। आयुष्मान और हिमकेयर, जो पांच लाख तक का इलाज मुफ्त देते हैं, इन मरीजों के इलाज के लिए मुफ्त कार्डों से गरीब मरीजों को कोई लाभ नहीं मिलता है। 


मरीजों को स्टेंट, पेसमेकर और अन्य सामान खरीदने पर खर्च करना पड़ता है। टांडा के एमएस डॉ. मोहन ने बताया कि मरीजों को सरकार की ओर से धन न मिलने के कारण यह परेशानी उठानी पड़ रही है। आयुष्मान और हिमकेयर कार्ड धारकों को फिर से फ्री में स्टेंट और पेसमेकर मिलना शुरू हो जाएगा जैसे ही सरकार ने आचार संहिता का भुगतान किया।


रक्त वाहिकाओं और हृदय के उपचार में स्टेंट और पेसमेकर आधुनिक उपकरण हैं, लेकिन उनके उद्देश्य और उद्देश्य अलग हैं। जबकि एक पेसमेकर हृदय की चाल को नियंत्रित करने में मदद करता है, स्टेंट धमनियों के माध्यम से निरंतर रक्त प्रवाह को सुनिश्चित करता है। 


Post a Comment

0 Comments

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे प्रदेश भर में तीन चुनावी रैलियां