Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

खनियारा से कोतवाली आने वाले वाहनों के लिए वन वे व्यवस्था

                                           कोतवाली बाजार में लगने वाले जाम से मिलेगा छुटकारा 

काँगड़ा,ब्यूरो रिपोर्ट 

जिला मुख्यालय के कोतवाली बाजार में लगने वाले जाम से छुटकारा पाने के लिए पुलिस प्रशासन ने खनियारा और दाड़नू की तरफ से आने वाले वाहनों के लिए चरान खड्ड, खजांची मोहल्ला चौक से वाया श्यामनगर वन-वे की व्यवस्था कर दी है। ताकि कोतवाली बाजार चौक पर वाहनों के दबाव को कम किया जा सके। दरअसल खनियारा, दाड़नू, जूहल और कंड में करीब दो दर्जन होटल और रेस्तरां हैं। इसके अलावा इस क्षेत्र में मांझी और मनूणी दो खड्डें हैं। गर्मियों में इस क्षेत्र में पर्यटकों की आवाजाही रहती है।

इस क्षेत्र से धर्मशाला आने वाले पयर्टकों के वाहनों को वाया श्यामनगर पुलिस थाना चौक से कोतवाली बाजार और अन्य जगहों के लिए भेजा जा रहा है। सिर्फ स्थानीय लोगों के हल्के वाहन और दोपहिया वाहनों को ही कोतवाली बाजार से आवाजाही की अनुमति है। वहीं, एचआरटीसी और निजी बसों के अलावा ट्रक और अन्य भारी वाहनों के लिए पहले ही वाया दाड़ी बाईपास रूट चिह्नित किया गया है।हालांकि कोतवाली बाजार पर लगने वाले जाम पर पूरी तरह नियंत्रण पाने के लिए पुलिस विभाग को गांधी वाटिका से बस स्टैंड वाया कालापुल बाईपास को सुचारू रूप से बहाल करना चाहिए, ताकि शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या से छुटकारा मिले। बाजार में लगने वाले ट्रैफिक जाम के कारण स्थानीय दुकानदारों का कारोबार भी प्रभावित हो रहा है। 

स्थानीय दुकानदार भी जिला प्रशासन से वन-वे ट्रैफिक व्यवस्था की मांग कर चुके हैं। अमर उजाला ने ट्रैफिक जाम के कारण स्थानीय दुकानदारों और वाहन चालकों को पेश आ रही समस्या को एक अभियान के अंतर्गत प्रमुखता से उठाया है, ताकि लोगों को समस्या से निजात मिले और पर्यटन कारोबार को गति मिल सके। क्योंकि जाम के कारण कई पर्यटक अब धर्मशाला शहर का रुख करने से गुरेज करने लगे हैं।खनियारा, दाड़नू और कंड की तरफ से आने वाले भारी वाहनों और पर्यटकों के वाहनों के लिए वाया श्यामनगर वन-वे ट्रैफिक व्यवस्था की शुरुआत कर दी गई है। हालांकि कोतवाली बाजार में ट्रैफिक जाम पर पूरी तरह से नियंत्रण पाने के लिए बाईपास को बहाल करना बहुत जरूरी है।कोतवाली बाजार ट्रैफिक जाम की समस्या ध्यान में है। जाम से कैसे छुटकारा मिले, इस पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। पूर्व के ट्रैफिक प्लान का भी अध्ययन किया जाएगा, उसके बाद शीघ्र इस बारे में उचित कदम उठाए जाएंगे।





Post a Comment

0 Comments

 कई भागों में 21 जुलाई तक मानसून की बारिश जारी