Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

पंडोह डैम के पास हाईवे धंसा, भारी बारिश से सराज में तबाही

                                                       मूसलाधार बारिश के कारण नाले में आई बाढ़ 

मंडी,ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश के कई भागों में जारी भारी बारिश के चलते व्यापक नुकसान हुआ है। शिमला सहित राज्य के अन्य जिलों में रात से जारी बारिश के चलते 63 सड़कें यातायात के लिए बाधित हो गई हैं। 319 बिजली ट्रांसफार्मर भी ठप पड़ गए हैं। मंडी, चंबा व कुल्लू में सबसे अधिक ट्रांसफार्मर प्रभावित हैं।

 प्रदेश की राजधानी शिमला में भी रात से रुक-रुककर बारिश का दौर जारी है। बीती रात कटौला में154.4, पंडोह 106.0, सुजानपुर टिहरा 80.0, गोहर 55.0, जोत 54.0,धर्मशाला 48.4, काहू 46.5, मशोबरा 45.0, बग्गी 40.2, मंडी 34.2, बलदवाड़ा 32.5 और सुंदरनगर में 30.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। मंडी जिले में सराज विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत अनाह में मूसलाधार बारिश के कारण नाले में बाढ़ आ गई। मलबे में कार और बाइकें दब गईं। मलबे के कारण एक घर को भी नुकसान पहुंचा है। नाले के साथ लगते कुछ अन्य घरों पर भी खतरा मंडराया है। लोग खुद ही मलबा हटाने में जुटे हैं।मंडी जिले में पंडोह डैम के पास लगभग 40 करोड़ की लागत से डंगा लगाकर करीब आठ महीने बाद बहाल हुए चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे पर एक बार फिर से खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। डंगा लगाकर तैयार किया गया नेशनल हाईवे एक बार फिर से धंसने की कगार पर आ गया है।  

हाईवे पर दरारें पड़ना शुरू हो गई हैं, जोकि धीरे-धीरे बढ़ती जा रही हैं। हालांकि अभी यातायात पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। एनएच पर कैंची मोड़ के पास भूस्खलन हो गया। इसकी जद में एक ट्रक आ गया है।  यह ट्रक खराब होने के चलते यहां खड़ा किया गया था। मलबे की चपेट में आने से ट्रक को नुकसान पहुंचा है।मंडी से पंडोह के बीच 4 मील के पास जिस डंगे के धंसने का मामला दो दिन पहले प्रमुखता से उठाया गया था वो बीती रात को हुई बारिश के कारण धंस गया है। डंगा धंसने के कारण हाईवे के बंद होने का खतरा भी मंडराने लगा है। हालांकि, अभी यहां पर एकतरफा यातायात बहाल है लेकिन सड़क पर बड़ी बड़ी दरारें आ गई हैं जिस कारण हाईवे के और ज्यादा क्षतिग्रस्त होने की संभावना बन गई है।




 


Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी