Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शक्तिपीठ ज्वालामुखी में सीसीटीवी और ड्रोन से सुरक्षा

शक्तिपीठ ज्वालामुखी की सुरक्षा के लिए पच्चीस सुरक्षाकर्मी तैनात होंगे, जिस पर सीसीटीवी और ड्रोन से निगरानी रहेगी

कांगड़ा, ब्यूरो रिपोर्ट

9 अप्रैल से चैत्र नवरात्रि का आगाज विश्व प्रसिद्ध ज्वालामुखी मंदिर में कन्या पूजन और शुभ मुहूर्त में पूजा-पाठ से किया जाएगा। गर्भगृह के दरवाजे सुबह 5:00 बजे खोले जाएंगे। शक्तिपीठ ज्वालामुखी में चैत्र नवरात्रि में मेले की गतिविधियों पर ड्रोन से नजर रखी जाएगी, और पुलिस विभाग पूरी व्यवस्था को देखेगा। 


नवरात्र में मंदिर की सुरक्षा को 65 अस्थायी कर्मचारी और अतिरिक्त 50 सुरक्षा कर्मी संभालेंगे. नगर परिषद में मेलों के दौरान सफाई की व्यवस्था को भी पुख्ता करने के लिए अतिरिक्त सफाई कर्मचारी भी रखे जाएंगे। चैत्र नवरात्रि में मंदिर के अंदर ढोल, नगाड़ा और नारियल नहीं होंगे। 


ज्वालामुखी एसडीएम संजीव शर्मा ने बताया कि चैत्र नवरात्रि 9 अप्रैल से शुरू होगी। मंदिर में रोशनी डाल दी जाएगी। मंदिर प्रशासन ने सभी प्रबन्ध किए हैं। नवरात्र से पहले, सभी को पंक्तियों में दर्शन करवाए जा रहे हैं और श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ गई है। 


नवरात्र के दौरान शहर में कई जगहों पर अतिरिक्त सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे, जो असामाजिक लोगों पर निगरानी रखेंगे। शहर छह सेक्टरों में विभाजित होगा और चुनिंदा स्थानों पर पार्किंग होगी। पुलिस हर जगह तैनात रहेगी और यातायात व्यवस्था मजबूत होगी।


 बड़े वाहन शहर से बाहर निर्धारित स्थानों पर ही खड़े होंगे। श्रद्धालुओं के लिए पेयजल की सुविधा उपलब्ध होगी।  मंदिर में सफाई और लंगर सुचारू रहेंगे। खाद्य निरीक्षक भी तैनात रहेंगे, जो श्रद्धालुओं की सुविधाओं, दवाइयों और खाने-पीने की सभी वस्तुओं को जांचेंगे। इसके अलावा, मंदिर अंतिम तीन नवरात्रों, सप्तमी, अष्टमी और नवमी को चौबीस घंटे लोगों के लिए खुला रहेगा।


Post a Comment

0 Comments